उपभोक्ता फोरम नारनौल ने इंश्योरेंस कंपनी पर ठोका 3.50 लाख से अधिक का जुर्माना

उपभोक्ता फोरम नारनौल ने इंश्योरेंस कंपनी पर ठोका 3.50 लाख से अधिक का जुर्माना नारनौल,10 फरवरी,2020 : जिला उपभोक्ता फोरम नारनौल के चेयरमैन अशोक कुमार गर्ग व सदस्य सुदेश की फॉर्म ने न्यू इंडिया एश्योरेंस कंपनी पर 351690 रुपए का जुर्माना लगाया है।

इसके अलावा 5500  रुपए उपभोक्ता के अधिवक्ता की फीस भी अदा करने का आदेश सुनाया है।

गांव झूक निवासी राजकुमार पुत्र राजवीर सिंह ने सोमवार को बताया कि उसने अपनी महिंद्रा पिकअप गाड़ी नंबर एचआर 66बी 0292 का न्यू इंडिया एश्योरेंस कंपनी से वर्ष 2017-18 के लिए इंश्योरेंस करवाया था। उसकी गाड़ी 9 फरवरी 2018 को रात के समय जब वह अपने गांव झुक से अपने निजी कार्य के लिए महेंद्रगढ़ जा रहा था तो रास्ते में सिगड़ी गांव के नजदीक उसकी गाड़ी के ब्रेक फेल हो गए थे संतुलन बिगड़ जाने के कारण उनकी गाड़ी सडक़ के किनारे बनी पानी की टंकी व पत्थरों से टकरा गई थी और उस पर काफी नुकसान हो गया था।

जिसको ठीक करवाने के लिए राजकुमार ने मिस्त्री को फोन किया तो मिस्त्री ने रात अधिक हो जाने के कारण सुबह आकर गाड़ी को रिपेयर करने की बात कही थी। राजकुमार रात को अपनी गाड़ी को सडक़ के किनारे पार्क करके अपने घर चला गया था तथा सुबह जब वह मिस्त्री को लेकर सिगड़ी गांव के पास अपनी गाड़ी के नजदीक पहुंचा तो पता चला कि रात को उसकी गाड़ी में आग लग गई।

जिसके कारण वह पूर्णतया डैमेज हो गई है। रात को दुर्घटना होने के बाद लगी आग की सूचना गांव सिगड़ी के सरपंच ने अग्निशमन विभाग महेंद्रगढ़ को दी थी। इसके बाद अग्निशमन विभाग महेंद्रगढ़ की टीम ने मौके पर पहुंचकर सिगड़ी गांव में आग से जलती हुई पिकअप गाड़ी की आग बुझाई थी। जिसके बाद राजकुमार ने आग लगने की डीडीआर महेंद्रगढ़ थाने में दर्ज करवाई थी। राजकुमार ने गाड़ी के इंश्योरेंस का क्लेम करने के लिए इंश्योरेंस कंपनी में अपना दावा पेश किया मगर न्यू इंडिया एश्योरेंस कंपनी ने शिकायतकर्ता को कोई क्लेम ना देकर उसका क्लेम खारिज कर दिया था।

राजकुमार ने बताया कि उन्होंने नारनौल में सुभाष यादव एडवोकेट के माध्यम से जिला उपभोक्ता फोरम का दरवाजा खटखटाया और अपने द्वारा करवाए गए इंश्योरेंस का क्लेम हासिल करने के लिए दरखास्त दी। सुभाष यादव एडवोकेट ने उपभोक्ता फोरम में गाड़ी के इंश्योरेंस, फोटोग्राफ , डीडीआर, व फायर स्टेशन की रिपोर्ट प्रस्तुत की तथा माननीय फॉर्म को बताया कि हमने इंश्योरेंस की सभी शर्तों को पूरा करते हुए क्लेम लेने की दरखास्त लगाई थी।

मगर इंश्योरेंस कंपनी ने मनमानी करते हुए हमारे इंश्योरेंस के क्लेम को खारिज कर दिया था। दोनों पक्षों की लंबी बहस सुनने के बाद माननीय जिला उपभोक्ता फोरम के चेयरमैन अशोक कुमार गर्ग व सदस्य सुदेश ने शिकायतकर्ता राजकुमार को 351690 का क्लेम इंश्योरेंस कंपनी को 30 दिन में अदा करने का आदेश सुनाया। साथ ही शिकायतकर्ता राजकुमार को 55 सो रुपए अदालती खर्चा वकील फीस के रूप में अदा करने के आदेश इंश्योरेंस कंपनी को दिए हैं ( बी.एल. वर्मा द्वारा ):

All Time Favorite

Categories