Haryana

उपायुक्त ने की प्रेस कांफ्रेंस

-प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 92601 किसान पंजीकृत
-72 हजार किसानों के खाते में जा चुकी है पहली किस्त के दो हजार रुपए
-जिले में पांच एकड़ से अधिक जमीन वाले 2810 किसानों ने करवाया पंजीकरण
त्रिभुवन वर्मा द्वारा :
नारनौल 22अगस्त 2019  :प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि येाजना के तहत जिले के 92601 किसानों को पंजीकृत किया जा चुका है। इनमें से लगभग 72 हजार किसानों को पहली किस्त 2 हजार रुपए के तौर पर उनके खाते में जा चुकी है। वहीं दूसरी किस्त के तौर पर भी लगभग 53 हजार किसानों को उनके खाते में दी जा चुकी है। यह जानकारी उपायुक्त जगदीश शर्मा ने गुरूवार को मीडिया सेंटर में आयेाजित प्रेस कांफ्रेंस में कहीं।
उन्होंने कहा कि यह योजना 24 फरवरी 2019 को प्रधानमंत्री ने गौरखपुर उîार प्रदेश से तथा हरियाणा के मुख्यमंत्री ने जिले के गांव खुडाना से शुरू की थी। इस योजना के तहत पांच एकड़ से कम जमीन वाले 89791 किसान हैं तथा पांच एकड़ से अधिक जमीन वाले 2810 किसान हैं। शुरू में पांच एकड़ से कम जमीन वाले किसानों को योजना से जोड़ा गया था लेकिन अब यह सीमा समाप्त कर दी गई है।
डीसी ने किसानों से आह्वान किया है कि जिन किसानों के खाते में यह राशि नहीं आई है वे कृषि विभाग के रेवाड़ी रोड स्थित कार्यालय में जाकर अपना आधार कार्ड से पता करवा सकते हैं कि वह पंजीकृत है या नहीं। जिले के जो किसान पंजीकृत हो चुके हैं उनके खाते में नंवबर तक राशि आ जाएगी।
उपायुक्त ने बताया कि मेरी फसल मेरा बीमा योजना के तहत 5 जुलाई से पंजीकरण करवाने का काम शुरू किया गया था। जिले का कोई भी किसान 31 अगस्त तक फसल हरियाणा ओआरजी डॉट इन पर अपना पंजीकरण करवा सकता है। उन्होंने बताया कि अब तक जिले में 52350 किसान इसके तहत पंजीकृत हो चुके हैं। जिले में लभग 346869.16 एकड़ फसल शामिल है। किसानों के पंजीकरण के मामले में यह जिला राज्य में शुरू से ही नंबर वन पर रहा है तथा आज तक भी पहले नंबर पर स्थापित है। जिले के 90 फीसदी किसानों ने पंजीकरण करवा दिया है। डीसी ने बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत जिन किसानों ने पिछले साल कपास व बाजरे का बीमा करवाया था तथा जिनकी फसल खराब हुई थी और इसके लिए आवेदन किया था उन किसानों के खाते में 9 करोड़ से अधिक बीमा की राशि डाल दी गई है। जिले में 90 फीसदी किसानों के खाते में यह रकम भेज दी गई है।
इस मौके पर पुलिस अधीक्षक चंद्रमोहन व उप निदेशक कृषि एंव किसान कल्याण विभाग से जसविंद्र सिंह के अलावा अन्य अधिकारी मौजूद थे।
जिले में बनने वाले किसान भवन का डिजाइन तैयार:
मीडिया सेंटर में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस के दौरान उप निदेशक कृषि एंव किसान कल्याण विभाग जसविंद्र सिंह ने बताया कि जिले में मुख्यमंत्री द्वारा 10 जनवरी 2019 को किसान भवन की घोषणा की गई थी। इस तीन मंजिले भवन का डिजाइन तैयार हो चुका है तथा यह लगभग 2 साल में बनकर तैयार होगा।
उन्होंने बताया कि यह भवन बनने के बाद जिले में कृषि विभाग से संंबंधित कार्यालय एक ही छत के नीचे होंगे तथा सभी प्रकार की योजनाओं की जानकारी के लिए किसानों को इधर-उधर नहीं जाना पड़ेगा। इसमें सभी प्रकार की लैब व सभागार आदि होंगे। यह भवन बनने के बाद किसानों को काफी राहत मिलेगी।