Haryana

एम्स के लिए गणियार व बजाड़ के ग्रामीण जमीन देने के लिए तैयार 

एम्स के लिए गणियार व बजाड़ के ग्रामीण जमीन देने के लिए तैयार 

एम्स के लिए गणियार व बजाड़ के ग्रामीण जमीन देने के लिए तैयार   बी.एल. वर्मा द्वारा  :
नारनौल 12जुलाई 2019 :मनेठी में बनने वाली एम्स में केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय द्वारा सुप्रीम कोर्ट की गाइड लाइन के अनुसार गठित एफएसी (फोरेस्ट एडवाइजरी कमेटी) द्वारा निर्माण के लिए दी गई मनेठी ग्राम पंचायत की जमीन को गैर कृषि कार्य एम्स का निर्माण करने के लिए उपयोग करने की अनुमति नहीं देने के कारण क्षेत्र के लोगों में मायूसी नजर आ रही हैं, वहीं दूसरी ओर गांव गणियार व बजाड़ के ग्राम पंचायत व ग्रामीणों ने शुक्रवार को केन्द्रीय मंत्री राव इन्द्रजीत सिंह से मांग की है कि मनेठी की बजाए एम्स के लिए वे गांव गणियार व बजाड़ में जमीन देने की स्वीकृति प्रदान की हैं।
इस बारे में गांव गणियार के बह्मप्रकाश बाक्सर, सरपंच सरोज यादव, रामरती, पूर्व सरपंच संजय यादव, नम्बरदार राज, नम्बरदार कन्हीराम, पूर्व सरपंच ताराचंद, अरविन्द यादव गणियार, सोना नारायण, गांव के पूर्व प्रतिनिधियों व अन्य ग्रामीणों ने कहा कि उनके गांव गणियार व बजाड़ में 250 एकड़ जमीन खाली पड़ी है, वहीं पंचायती जमीन के साथ लगती किसानों की जमीन भी किसान देने के लिए तैयार हैं। उन्होंने बताया कि उनके गांव से मनेठी में बनने वाली एम्स की दूसरी करीब पांच किलोमीटर की दूरी हैं। ऐसे में अगर मनेठी में एम्स बनाने में अड़चन पैदा हो रही है तो वे अपने गांव की जमीन एम्स के लिए देने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि एम्स बनने से क्षेत्र के लोगों को काफी फायदा होगा। बाक्सर ब्रह्मप्रकाश ने बताया कि केन्द्रीय मंत्री राव इन्द्रजीत सिंह मांग की है कि एम्स जमीन को लेकर पैदा हुई अड़चन का तुरंत समाधान करके वे गणियार व बजाड़ क्षेत्र का प्रपोजल पर्यावरण विभाग को भेजे। इससे क्षेत्रवासियों में बनने वाले एम्स क्षेत्र में ही रह जाएगी तथा क्षेत्रवासियों में जो मायूसी है वो भी खुशी में तबदील हो जाएगी।