Haryana

किताबी ज्ञान के साथ व्यावहारिक समझ भी जरूरी – प्रो. कालरा

-हकेंवि में विशेषज्ञ व्याख्यान आयोजित

महेंद्रगढ़:    हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय (हकेंवि), महेंद्रगढ़ में बुधवार को पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान विभाग द्वारा विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विद्यार्थियों के बीच पंजाबी विश्वविद्यालय, पटियाला के प्रो. एच.पी.एस. कालरा उपस्थित रहे और उन्होंने विद्यार्थियों को पुस्तकालय विज्ञान के क्षेत्र में रोजगार के आवश्यक विभिन्न पहलुओं से अवगत कराया। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आर.सी. कुहाड़ की प्रेरणा व मार्गदर्शन से आयोजित इस आयोजन में भारी संख्या में विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया और पुस्तकालय विज्ञान के विभिन्न पहलुओं से रूबरू हुए।

पंजाबी विश्वविद्यालय, पटियाला में पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान विभाग के प्रमुख प्रो. एच.पी.एस. कालरा ने कहा कि विद्यार्थी पुस्तकालय विज्ञान के क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं बशर्ते कि वे तकनीकी बदलावों को समझने और उन्हें अपनाने के लिए तैयार हों। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में सफलता के लिए जरूरी है कि किताबी ज्ञान के साथ-साथ व्यावहारिक पहलुओं को भी समझा जाए और उन्हें अपनाते हुए आगे बढ़ा जाए। प्रो. कालरा ने विद्यार्थियों को ई-रिसोर्स के चयन, नॉलेज मैनेजमेंट सिस्टम जैसे विषयों से भी अवगत कराया और बताया कि किस तरह से वे बेहतर ढ़ंग से इनका उपयोग कर सकते हैं। कार्यक्रम में महर्षि दयानन्द विश्वविद्यालय, रोहतक के पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान विभाग के प्रमुख प्रो. सतीश मलिक भी विद्यार्थियों के बीच उपस्थित रहे। विभाग के प्रभारी डॉ. पवन कुमार सैनी ने बताया कि इस कार्यक्रम का आयोजन सहायक आचार्य सुश्री सपना व अमित के सहयोग से किया गया।