किसान की फसल जलकर राख, मुआवजे की मांग 

बी.एल. वर्मा द्वारा
कनीना 2 मई 2019 : प्रजा भलाई संगठन के अध्यक्ष ठाकुर अतरलाल एडवोकेट ने आग में जलकर नष्ट हुई गेहूं की फसल का 50 हजार प्रति एकड़ तथा नष्ट हुए तूड़ा का पंद्रह हजार रुपए प्रति एकड़ की दर से मुआवजा देने की मांग की है।
अतरलाल ने उक्त मांग जिला के गांव गाहड़ा निवासी किसान ज्ञान सिंह व रामानंद के खेतों में अज्ञात कारणों से लगी आग से जलकर नष्ट हुए 6 एकड़ तूड़े का निरीक्षण करने के बाद किसानों से बातचीत करते हुए उठाई। उन्होंने कहा कि पिछले 15 दिनों में जिला के मुंडिया खेड़ा, रातां कलां, तिगरा, बेवल, भोजावास आदि गांवों में अज्ञात कारणों से आगजनी की दुर्घटनाओं में कई किसानों की गेहूं की फसल तथा तूड़ा जलकर नष्ट हो गया। किसानों ने 6 महिना खून-पसीना सींच कर खुशहाली के जो सपने देखे थे उन सब पर पानी फिर गया है। किसान मायूश तथा परेशान हैं। इसलिए राज्य सरकार तथा प्रशासन को तत्काल सर्वे करवाकर पीडि़त किसानों को जली गेहूं की फसल का पचास हजार रूपए तथा जले तूड़े का पंद्रह हजार एकड़ की दर से मुआवजा देना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब आगजनी आंदोलन के प्रभावितों को सरकार मुआवजा दें सकती है तो पीडि़त अन्नदाता किसान को मुआवजा देने में आना-कानी क्यों। उन्होंने कहा कि यह भेदभाव अब बर्दास्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने जिला प्रशासन व राज्य सरकार को चेतावनी दी कि 15 दिन के अंदर सर्वे करवाकर पीडि़त किसानों को मुआवजा वितरित नहीं किया गया तो पीडि़त किसान अपने पशुओं को साथ लेकर उपमण्डल अधिकारी नागरिक कनीना का घेराव करेंगे।

About the author

SK Vyas

SK Vyas

Add Comment

Click here to post a comment

All Time Favorite

Categories