खेड़ी गांव में आस्था से जुड़े कदम्ब काटने पर ग्रामीणों ने की शिकायत

खेड़ी गांव में आस्था से जुड़े कदम्ब काटने पर ग्रामीणों ने की शिकायत

मंडी अटेली खंड के गांव खेड़ी कांटी में सूखे कदम्ब के पेड़।
-एक बार पहले भी चोरी करके काट लिये थे ये वृक्ष
बी.एल. वर्मा द्वारा  :
नारनौल,5दिसम्बर,2019: उपमंडल के गांव खेड़ी कांटी में आस्था से जुड़े धार्मिक कदम्ब के पेड़ पंचायत द्वारा कटाये जाने के खिलाफ  ग्रामीण लामबंद हो गए। ग्रामीणों ने युवा सत्येंद्र यादव के नेतृत्व में उपायुक्त से मिलकर एक शिकायती पत्र सौंपकर इस धरोहर की रक्षा करने और पंचायत के खिलाफ कडी़ कार्रवाई की मांग की है।
गांव खेड़ी कांटी में सैकड़ों वर्ष पुराने कदम्ब के पेड़ लगे हुए हैं। उनमें से लगभग एक दर्जन से अधिक पेड़ सूख गए। आरोप है कि सरपंच और पंचायत द्वारा इन पेड़ों को काटा जा रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि इसके लिए न तो वन विभाग से अनुमति ली गई है। यह प्राचीन कदम्ब के पेड़ ग्रामीणों की आस्था से जुड़े हुए हैं। इससे पूर्व भी एक बार पहले इन पेड़ों को चोरी करके काटा गया था। जिन्हें बाद में पुलिस ने बरामद किया था।
ग्रामीणों का आरोप है कि सरपंच व ग्राम पंचायत अपने निजी लाभ के लिए होने औने पौने दामों में इन्हें बेच रही है। अपनी शिकायत ग्रामीणों ने गांव के युवा सत्येंद्र यादव के नेतृत्व में जिला उपायुक्त को शिकायत पत्र देकर अविलंब कार्रवाई की मांग की है। यहां यह उल्लेखनीय है कि गांव में लगाए गए प्राचीन कदम्ब भगवान श्री कृष्ण से जुडा़व माना जाता हैं। ग्रामीणों का कहना है की इन वृक्षों की आज तक कोई सही गिनती नहीं कर पाया है। लकड़ी बेशकीमती हो होने के कारण देश विदेश में इसकी काफी मांग है इसे मालाओं के मणियें तथा कलात्मक मूर्तियां बनाने में उपयोग में लाया जाता है। बाजार में यह काफी महंगी बिकती है। शिकायत करने वालों में सत्येंद्र यादव, सागर, राजाराम, अजीत सिंह, अभय सिंह व विजय कुमार सहित अनेक ग्रामीण शामिल है।

About the author

SK Vyas

SK Vyas

Add Comment

Click here to post a comment

All Time Favorite

Categories