गुरु नानक देव को समर्पित प्रदर्शनी का लोकार्पण किया राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने

गुरु नानक देव को समर्पित प्रदर्शनी का लोकार्पण किया राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने

गुरु नानक देव को समर्पित प्रदर्शनी का लोकार्पण किया राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने
सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के तत्वावधान में ब्यूरो ऑफ आउटरिच एंड कम्युनिकेशन विभाग ने कराया आयोजन
युवा पीढ़ी को पेंटिंग व फिल्म के माध्यम से गुरु नानक देव की शिक्षाओं से कराया अवगत
गुरु नानक  के जन्म से लेकर निर्वाण तक की यात्राओं को दर्शाया अनूठे रूप में
स्कूली विद्यार्थियों की प्रतिभा निखारने के लिए दिया बेहतरीन मंच  

कुरुक्षेत्र, 3 दिसम्बर2019 ( सुरेन्द्र व्यास द्वारा  )     हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य व मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मंगलवार को गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में कुरुक्षेत्र में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के तत्वावधान में ब्यूरो ऑफ आउटरिच एंड कम्युनिकेशन विभाग के द्वारा आयोजित इंटरएक्टिव डिजिटल प्रदर्शनी को लोकार्पित किया। इस प्रदर्शनी के माध्यम से युवा पीढ़ी को गुरु नानक देव की शिक्षाओं व आदर्शों से अवगत कराया जा रहा है।

     अंतरराष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव के अंतर्गत मेला ग्राउंड में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने इंटरएक्टिव डिजिटल प्रदर्शनी का सफल आयोजन किया है। प्रदर्शनी के लोकार्पण समारोह में पहुंचने पर राज्यपाल सहित मुख्यमंत्री मनोहर लाल तथा उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, हिमाचल प्रदेश विधानसभा के स्पीकर डा. राजीव बिंदल, नेपाल के डिप्टी हाई कमिश्नर भरत कुमार रेकवी, जिंबाब्वे के डिप्टी हाई कमिश्नर लायून रियुबे और अन्य अतिथियों को पगड़ी बांधकर स्वागत किया गया।

इस दौरान राज्यपाल सहित मुख्यमंत्रियों व अन्य सभी अतिथियों ने प्रदर्शनी की मुक्त कंठ से प्रशंसा की।  प्रदर्शनी स्थल में प्रवेश करते हुए सीधे खंडा साहब के दर्शन होते हैं, जिसे बड़े व आकर्षक रूप में स्थापित किया गया है। इस दौरान युवाओं में खंडा साहब के साथ सेल्फी लेने की होड़ सी लगती दिखाई दी। खंडा साहब को नमन करके युवाओं ने बड़ी रूचि के साथ फोटो भी खिंचवाई।

प्रदर्शनी में उन सभी गुरुद्वारों की चित्र प्रदर्शनी लगाई है जिनका सीधा संबंध गुरु नानक देव जी से है, जिसकी शुरुआत ननकाना साहब से होती है जो कि अब पाकिस्तान में आता है। तरनतारन, कपूरथला सहित पाकिस्तान में स्थापित हसन अब्दाल गुरुद्वारे को प्रदर्शित किया गया है, जिन्हें देखने के लिए युवाओं की भीड़ उमड़ती नजर आई। गुरुनानक जी के जन्म को एक बड़ी पेंटिंग में दर्शाते हुए उनके पिता मेहता कालू व माता तृप्ता देवी को नमन किया गया है। एक दूसरी बड़ी पेंटिंग में उनकी बहन नानक तथा भाई मरदाना की कहानियों को दर्शाया गया है। प्रदर्शनी में सर्वधर्म का संदेश भी अनूठे रूप में दिया गया है।

प्रदर्शनी के दूसरे हिस्से में गुरु नानक देव की उदासियां (यात्राएं)फिल्मों के माध्यम से प्रदर्शित की जा रही है। सन 1514 से 1519 तक उनकी सभी उदासी बेहद प्रेरक रूप में दिखाई जा रही हैं। लघु फिल्मों के माध्यम से युवाओं को गुुरु नानक देव के संदेशों से अवगत करने में कोई कसर नहीं छोड़ी गई। साथ ही गुरु नानक देव के जीवन के प्रेरक प्रसंगों को पेंटिंग के माध्यम से प्रदर्शित किया गया है। प्रदर्शनी को रोचक रूप देने के लिए पजल्स गेम की व्यवस्था भी की गई है। साथ ही प्रश्नोत्तरी का भी प्रावधान किया गया है।

     प्रदर्शनी की प्रमुख संयोजक एवं सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की क्षेत्रीय एडिशनल डायरेक्टर जनरल देवप्रीत सिंह ने बताया कि प्रदर्शनी में स्कूली विद्यार्थियों की प्रतिभाओं को निखारने के लिए बेहतरीन मंच प्रदान किया गया है। आगामी 7 दिसंबर तक चलने वाली प्रदर्शनी में बच्चों के लिए विभिन्न प्रकार कलात्मक एवं रचनात्मक प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएगी। इसके अलावा इस मंच पर शबद कीर्तन की नियमित रूप से प्रस्तुतियां दी जाएंगी। इस दौरान डायरेक्टर आशीष गोयल, डिप्टी डायरेक्टर अनुज चांडक, असिस्टेंट डायरेक्टर सपना आदि मौजूद थे।

About the author

SK Vyas

SK Vyas

Add Comment

Click here to post a comment

All Time Favorite

Categories