Haryana

गौ तस्करों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

-कब्जे से 4 गायों का छुड़ाया, भैंस चोरियों में भी हाथ होने का शक, आरोपियों को 2 दिन के  पुलिस रिमांड पर लिया
बी.एल. वर्मा द्वारा
नारनौल 12जनवरी2019 
शुक्रवार रात्रि को सीआईए नारनौल ने गायों की तस्करी के आरोप में हामिद पुत्र सहाबुद्दीन वासी कंशाली व बिजेंद्र पुत्र मिलता राम वासी भालोट को पिकअप गाड़ी समेत गिरफ्तार कर 4 गायों को उनके कब्जे से छुड़वाया है। जिनको गिरफ्तार करके शनिवार को
न्यायालय में पेश कर आरोपियों को 2 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। वहीं दूसरी ओर आरोपियों के 4 साथी बलेरो गाड़ी में भागने में कामयाब रहे। रिमांड के दौरान आरोपियों से पूछताछ करके इनके चारों साथियों को भी गिरफ्तार किया जाएगा।
इस संबंध में पुलिस प्रवक्ता नरेश कुमार ने बताया कि भंैस चोरी जैसी वारदात को रोकने के लिए पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार ने जिले में प्रत्येक रात अलग अलग जगहों पर नाका लगाने के आदेश दिए हुए है। गत रात्रि सीआईए नारनौल गश्त में सिंघाना रोड बाईपास पर मौजूद थी। ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मियों को सिंघाना की तरफ  से एक बोलेरो गाड़ी हुई दिखाई दी। जिसको शक के आधार पर रुकवाने का इशारा किया तो गाड़ी चालक ने गाड़ी नहीं रोककर तेज गति से भगा ली, तुरंत पीछे-पीछे एक पिकअप गाड़ी भी सीआईए के सामने से बिना रुके निकल गई। पुलिस को शक होने पर सीआईए ने तुरंत इनका पीछा करना शुरु कर दिया। दोनों गाड़ी नांगल चौधरी की तरफ  मुड़ गई, तुरंत नांगल चौधरी पुलिस को भी अलर्ट कर दिया गया, जब ये गाडिय़ां रेलवे फाटक पार करने लगी तो आगे से भारी भरकम एक ट्राला आ गया। जिससे बलेरो गाड़ी तो निकल गई पर पिकप गाड़ी नहीं निकल सकी। पुलिस ने तुरंत ने अपनी गाड़ी पिकअप के आगे लगा दी। आरोपी निकलकर भागने लगे तभी सीआईए टीन ने इनको मौके पर ही दबोच लिया। जब पिकअप गाड़ी की तलाशी ली गई तो गाड़ी में 4 गाये, जिनके पांव रस्से से बंधे हुए थे, पीछे डाल रखी थी। आरोपी इन गायों को गांव भालोट से भर कर लाये थे। आरोपी इन गायों को जयपुर लेकर जा रहे थे, दोनों आरोपियों के खिलाफ  थाना शहर नारनौल में गौ तस्करी का मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार किया गया है। गायों को रात में ही गौ उपचार गौशाला नारनौल में भेज कर गौशाला संचालक के हवाले कर दी हैं। पुलिस ने आरोपियों को आज कोर्ट में पेश कर 2 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है।
भैंस चोरियों में हाथ होने का शक:
पुलिस प्रवक्ता नरेश कुमार ने बताया कि आरोपियों की पिकअप गाड़ी से लोहे की बेल व रस्से भी बरामद हुए है। आरोपियों के साथ एक बुलेरो गाड़ी भी साथ थी, जिसमें करीब 4 लोग बैठे हुए थे तथा पिकअप गाड़ी के आगे चल रही थी। पिकअप में बरामद लोहे की बेल से पुलिस को शक है की इन सभी आरोपियों का भैंस चोरी में हाथ भी हो सकता है। दोनों आरोपियों को 2 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। रिमांड के दौरान इनके साथियों का पता लगाया जाएगा और भैंस चोरियों के बारे में भी पूछताछ की जाएगी। वहीं दूसरी ओर पुलिस को भालोट गांव के बिजेंद्र पर भी शक है कि इन आरोपियों से मिला हुआ है तथा गौ तस्करी में लम्बे समय से शामिल है। बिजेन्द्र ही आरोपियों को इस इलाके की पूरी जानकारी उपलब्ध करता है।