चार महीने से गिरी स्कूल की चारदीवारी का विभाग नहीं ले रहा है सुध, छात्राओं परेशान

चार महीने से गिरी स्कूल की चारदीवारी का विभाग नहीं ले रहा है सुध, छात्राओं परेशान कनीना,15 फरवरी:जहां एक तरफ सरकार लड़कियों की सुरक्षा को लेकर तरह-तरह के रास्ते खोज रही है, वहीं दूसरी तरफ स्थानीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कनीना मण्डी स्कूल की छात्राओं को आए दिन स्कूल के बाहर की समस्याओं से जूझना पड़ रहा है, जिसको लेकर अब तक प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाही नहीं कि गई है, ताकि छात्राओं को इस समस्या से निजात मिल सके।
इस बारे में स्कूल स्टाफ के सदस्यों ने बताया कि पिछले तीन माह से स्कूल प्राचार्य किसी मामले में निलंबित हो गया था, जिसके बाद से स्कूल के सभी कार्य बाधित हो गए।

उन्होंने बताया कि लगभग चार माह पहले स्कूल कि लगभग सौ मीटर लम्बी बाहरी दीवार व पानी की टंकी फट जाने के कारण स्कूल में पढऩे वाली छात्राओं को भारी समस्या का सामना करना पड़ रहा है, जिसको लेकर स्कूल के प्राचार्य रामपाल यादव व वर्तमान स्कूल स्टाफ के द्वारा उच्चाधिकारियों को लिखित व मौखिक में कई बार अवगत कराया गया है, लेकिन अब तक इस कार्य को करना तो दूर की बात है इसको कोई देखने तक नहीं आया है।

उन्होंने बताया कि स्कूल के साथ लगता ही रेलवे स्टेशन और पार्क है, जिसके कारण यहा लोगों का आना जाना बना रहता है। जिसके कारण स्कूल में पढऩे वाली छात्राए काफी परेशान है। उन्होंने बताया कि स्कूल के पास पार्क होने के कारण आवारा लडक़े इस पार्क का बहाना लगाकर यहां घूमते रहते है, जिसके कारण कभी भी कोई अनहोनी कि घटनाएं होने का अंदेशा बना रहता है, लेकिन इस और अब तक किसी भी प्रकार से ध्यान नहीं दिया गया है, वहीं स्कूली छात्राओं ने बताया कि इस स्कूल की दीवार गिरने से आए दिन काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है, लेकिन लगभग चार माह बीत जाने के बाद भी इस विकट समस्या की और कोई ध्यान नहीं दिया गया है।

यहां गौरतलब है कि स्कूल प्राचार्य को निलंबित हुए लगभग तीन माह हो गए है। जिसके बाद से नहीं तो स्कूल के स्टाफ का वेतन निकला है और अन्य स्कूल के काफी कार्य बाधित हो गए है, जिसको लेकर खण्ड शिक्षा अधिकारी से बात की गई थी तो उनका कहना था कि हमने लिखित में डी.डी. पावर के लिए डी.ओ. कार्यालय में भिजवा दिया था, जिसके बाद भी आज तक इस मामले पर कोई संज्ञान नहीं लिया गया है आखिर क्यों तीन माह से किसी भी स्टाफ को पावर नहीं दी गई।

आखिर इसके पीछे किसका हाथ है इसकी भी जांच होनी चाहिए। इस मामले को लेकर जिला शिक्षा अधिकारी नसीब सिंह से बात कि गई तो उनका कहना है कि मुझे यहां आए मात्र दो दिन हुए है उक्त मामला मेरी संज्ञान में नहीं है। इसको लेकर जल्द ही कनीना मंडी स्कूल का दौरा कर स्थिति का जायजा लिया जाएगा और स्टाफ के वेतन की समस्या का भी जल्द से जल्द समाधान कराया जाएगा।

चौकी प्रभारी गोबिन्द यादव से बात तो उनका कहना है कि मण्डी स्कूल व महा विद्यालय में पढऩे वाली छात्राओं को किसी भी प्रकार से परेशानी न हो इसके लिए स्थानीय पुलिस समय-समय पर गश्त करती रहती है( बी.एल. वर्मा द्वारा ) :

About the author

SK Vyas

SK Vyas

Add Comment

Click here to post a comment

All Time Favorite

Categories