Delhi News

छोटी-मोटी समस्याएं जल्द दूर कर लेंगे- अरविंद केजरीवाल

सुरेंद्र व्यास द्वारा

नई दिल्ली , 14/2018:  दिल्ली सरकार की ऐतिहासिक योजना डोर स्टेप डिलीवरी ऑफ सर्विसेस से जुड़ी छोटी-मोटी समस्याओं को जल्द दूर कर लिया जाएगा। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने एक ट्वीट में शुक्रवार को कहा कि अभी छोटी-मोटी समस्याएं हैं। इनको सुलझाने के लिए हम काम कर रहे हैं। मैं खुद इसकी निगरानी कर रहा हूं। यह एक नया आइडिया है। हम उम्मीद करते हैं कि अगले कुछ दिनों में दिल्ली की जनता को इस स्कीम को लेकर कोई भी दिक्कत नहीं आएगी।

डोर स्टेप डिलीवरी ऑफ सर्विसेस स्कीम के लॉन्च से लेकर 14 सितंबर, शाम 5 बजे तक 6,058 एप्वाइंटमेंट फिक्स हुए हैं। इसके अलावा मोबाइल सहायकों ने 1,046 घरों की विजिट की है। योजना शुरू होने के पांचवें दिन भी डोर स्टेप डिलीवरी ऑफ सर्विसेस हेल्पलाइन 1076 पर फोन करके विभिन्न सरकारी सेवाओं की रेक्वेस्ट कर रहे हैं। इसके अलावा काफी तादात में लोग अब वेबसाइट के जरिये भी रजिस्ट्रेशन करवा रहे हैं। सरकारी वेबसाइटों पर एक बैनर के साथ एक लिंक क्रिएट किया गया है जहां कोई व्यक्ति अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकता है। रजिस्ट्रेशन के बाद कॉल सेंटर की तरफ से उसे कॉल जाएगी।

शुरुआती के अनुभव के आधार पर बैक-एंड सिस्टम को मजबूत किया गया है। फोन लाइनों की संख्या बढ़ाई गई है। ऑपरेटरों की संख्या में भी इजाफा किया गया है। इससे इस व्यवस्था को पहले से ज्यादा सुचारु रूप से चलाने में मदद मिली है। अब कॉल कनेक्ट होने में कोई भी समस्या नहीं आ रही है। जिन लोगों की कॉल वेटिंग जा रही है उनको एमएमएस भेजा जा रहा है। उनको कॉल बैक किया जाएगा। ऐसे लोगों को कॉल बैक करने के लिए एक अलग से टीम बनाई गई है। इसके अलावा विभिन्न सेवाओं के लिए दिल्ली के विभिन्न इलाकों में रहने वाले लोगों की एप्वाइंटमेंट भी फिक्स हो रही है। लोगों की सुविधानुसार और उनके दिये गये समय पर मोबाइल सहायकों को भेजा जा रहा है। विभिन्न सेवाओं के लिए आवेदन करने वाले ऐसे लोग जिनके डाक्युमेंट पूरे नहीं थे, उनके घर दोबारा मोबाइल सहायक जाएंगे।

इस योजना को लागू करने से पहले दिल्ली सरकार ने स्टडी करवाई थी जिससे पता चला कि आमतौर पर इन सरकारी सेवाओं के लिए किसी आदमी को तीन से पांच बार तक का सरकारी दफ्तरों में चक्कर काटना पड़ता था। डोर स्टेप डिलीवरी ऑफ सर्विसेस योजना में लोगों के सबसे ज्यादा फोन रेवेन्यू और ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट से जुड़ी सर्विसेस के लिए आ रहे हैं। सबसे ज्यादा मांग कास्ट सर्टिफिकेटड्राइविंग लाइसेंसइनकम सर्टिफिकेटआरसी में बदलावपानी के कनेक्शनम्यूटेशनमैरिज रजिस्ट्रेशन इत्यादि की हैं।

इस होम डिलीवरी स्कीम का उद्देश्य दिल्ली के लोगों को बेहद सहूलियत के साथ घर बैठे सरकारी सेवाएं उपलब्ध कराना, नौकरशाही की वजह से होने वाली लेटलतीफी खत्म करना और डिलीवरी सिस्टम में घुस आए दलालों और भ्रष्ट तत्वों का खात्मा करना है। इस योजना को लॉन्च करते समय भी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि  यह एक नई शुरुआत है। नई चीज है। दिक्कतें आएंगी। परेशानी भी हो सकती है। खामियों को लेकर सामने आइए। हम उसका स्वागत करेंगे। न्हें दूर करेंगे।