Haryana

जल शक्ति अभियान का मकसद भूमि के जल स्तर का बढ़ाना है: राजीव बंसल 

जल शक्ति अभियान का मकसद भूमि के जल स्तर का बढ़ाना है: राजीव बंसल 

जल शक्ति अभियान का मकसद भूमि के जल स्तर का बढ़ाना है: राजीव बंसल 
बी.एल. वर्मा द्वारा :
महेन्द्रगढ़ 10 जुलाई 2019 :सिंचाई विभाग विश्राम गृह महेंद्रगढ़ में आज जिला उपायुक्त जगदीश प्रसाद शर्मा व भारत सरकार में पैट्रोलियम मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव राजीव बंसल की अध्यक्षता में जल शक्ति अभियान कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें सभी विभागों के अधिकारियों ने भाग लिया। जिसमें विभागीय अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए गए कि वे भारत सरकार के इस अभियान को सफल बनाने में कोई कसर ना छोड़ें। इसके लिए विभागीय अधिकारियों के साथ-साथ आमजन का सहयोग नितांत आवश्यक है तथा इसके लिए जनता को जागरूक किया जाए।
इस अवसर पर भारत सरकार में अतिरिक्त सचिव राजीव बंसल ने अपने संबोधन में कहा कि पिछली केंद्र सरकार में प्रधानमंत्री मोदी ने स्वच्छता अभियान, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ जैसे अभियान शुरू किए थे जिनके सार्थक परिणाम देखने को धरातल पर मिले और दौबारा से बनी केंद्र सरकार ने पिछले एक सप्ताह से जल शक्ति अभियान का शुभारंभ किया है। जिसका मुख्य मकसद भूमि के जल स्तर का बढ़ाना है ताकि आने वाली पीढिय़ों को पर्याप्त पेयजल व सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध हो सके। उन्होंने कहा कि जल संरक्षण एवं जल संवर्धन मौजूदा समय की मांग है। बोरवैल व बरसाती पानी की बचत की जाए तथा ज्यादा से ज्यादा पौधारोपण किया जाना चाहिए।
जिला उपायुक्त जगदीश प्रसाद शर्मा ने इस मौके पर अधिकारियों को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि सभी अधिकारी न केवल विभागीय परिसर में पौधारोपण करें, बल्कि जहां भी गांव- शहर में नगरपालिका व पंचायती भूमि में पौधारोपण करें क्योंकि पौधारोपण कार्य जल शक्ति अभियान को सफलता प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि जहां ज्यादा पेड़-पौधे होते हैं वहां ज्यादा बरसात होती है। उन्होंने कहा कि जनता को जागरूक किया जाए कि वे घर का पानी घर में व खेत का पानी खेत के संरक्षित करें ताकि भूमि का जलस्तर ऊंचा उठाया जा सके। उन्होंने कहा कि विशेषकर महेंद्रगढ़ व कनीना खंडों में जल संरक्षण एवं संवर्धन के लिए विशेष जागरूकता अभियान चलाया जाए जिसकी शुरूआत आज से ही शुरू की दी जाए। उन्होंने कहा कि पौधारोपण की कमी, भूजल स्तर के अत्यधिक दोहन व बरसाती पानी की कमी के कारण निरंतर भूमि के जल स्तर में गिरावट आ रही है जो कि चिंतनीय है इसके लिए हर व्यक्ति पांच पौधे लगाए तथा बरसाती पानी का संरक्षण करे ओर पानी की फिजुलखर्ची को रोके।
इस अवसर पर एसडीएम डा. विनेश कुमार, तहसीलदार सुभाषचंद्र सहित जिला के सिंचाई विभाग, जनस्वास्थ्य विभाग, वन विभाग, खंड विकास विभाग, पंचायतीराज सहित विभिन्न विभागों के आला अधिकारी उपस्थित थे।