Haryana

जल शक्ति अभियान के केंद्रीय नोडल अधिकारी ने की एनजीओ व सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों के साथ बैठक


-जल शक्ति अभियान को एक जनांदोलन का रूप देने की जरूरत: बंसल, महेंंद्रगढ़ की बावड़ी का पुर्नोत्थान
त्रिभुवन वर्मा द्वारा:
नारनौल 12 जुलाई 2019  :जल शक्ति अभियान को एक जनांदोलन का रूप देने की जरूरत है। यह जीवन के अस्तित्व से जुड़ा हुआ मामला है। इसमें सरकार के साथ जनता की भागीदारी जरूरी है। यह बात जल शक्ति अभियान के केंद्रीय नोडल अधिकारी तथा अतिरिक्त सचिव राजीव बंसल ने बीएंडआर रेस्ट हाउस में जिले के विभिन्न एनजीओ व सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों के साथ हुई बैठक में कही।
उन्होंने सभी संगठनों से आह्ïवान किया कि वे इस अभियान में किसी न किसी रूप में जिला प्रशासन के साथ काम करते हुए प्रत्येक नागरिक को इस अभियान के साथ जोडऩे का काम करें। श्री बंसल ने कहा कि प्रधानमंत्री के स्वच्छता के संदेश को जिस तरह से देश की जनता ने सकारात्मक रूप से लिया है उसी तरह इस अभियान को भी सफल बनाना है। उन्होंने कहा कि इस अभियान में सभी एनजीओ, यूथ क्लब, स्वयं सहायता समूह, महिला मंडल व सोसायटी को जोड़ा जाए।
इसके बाद अधिकारियों के साथ हुई बैठक में उन्होंने कहा कि दौहान नदी में महेंद्रगढ़ तक के हिस्से में जल संरक्षण के लिए लगाए जा रहे बोरवैल के काम में तेजी लाए जाए तथा उसे इसी महीने से पहले-पहले पूरा किया जाए। इससे पहले श्री बंसल ने महेंद्रगढ़ में स्थित बावड़ी का दौरा किया तथा इसके पुर्नोत्थान के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यह बहुत बड़ा जल संरक्षण का स्रोत है। जिला प्रशासन इसकी जल्द डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करके इस काम को करवाए। हमारे पूर्वजों ने हमारे लिए इतनी बड़ी सौगात छोड़ी है तो उसका इस्तेमाल करना चाहिए। इसकी सफाई करवाकर इसमें पानी डालने के लिए व्यवस्था की जाए। श्री बंसल ने बाबा जयराम दास मंदिर की बावड़ी का भी निरीक्षण किया। उन्होंने मौके पर मौजूद अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस में लगे रिचार्ज बोरवैल को दोबारा से शुरू किया जाए। यह गांव के लिए जल संरक्षण का बहुत बड़ा जरिया बन सकता है। इसके अलावा उन्होंने गांव माजरा कलां के स्कूल का दौरा कर वहां पर लगे रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम का भी निरीक्षा किया। इस मौक पर उपायुक्त जगदीश शर्मा के अलावा अन्य अधिकारी मौजूद थे।