Haryana

तन और मन को संतुलित करता है योग: प्रोफेसर कुहाड़


-पांचवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर हकेंवि में योगाभ्यास शिविर आयोजित
-विभिन्न योग प्रतियोगिताओं का हुआ आयोजन
त्रिभुवन वर्मा द्वारा
महेन्द्रगढ 21 जून 2019 : पांचवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय महेंद्रगढ़ में योगा5यास का आयोजन किया गया। मानव संसाधन विकास मंत्रालय की पंडित मदन मोहन मालवीय नेशनल मिशन ऑन टीचर्स एंड टीचिंग योजना के अन्तर्गत योग विभाग व शिक्षा पीठ द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों, शिक्षकों, अधिकारियों व कर्मचारियों सहित स्थानीय गोद लिए गांवों के प्रतिनिधि व नागरिकों ने बढ़-चढक़र हिस्सा लिया। कुलपति प्रो. आर.सी. कुहाड़ ने प्रतिभागियों को योग के महत्व से अवगत कराया और कहा कि योग तन और मन को संतुलित करता है। योग का योगदान स्वास्थ्य के लिए अहम है और हर आम और खास इसे समझने लगा है। प्रो. कुहाड़ ने कहा कि रिसर्च ने भी साबित कर दिया है  कि योग मानव शरीर के लिए कितना गुणकारी है।
प्रो. कुहाड़ ने अपने संबोधन में कहा कि योग से अच्छी सोच का निर्माण होता है। सत्य हमेशा एक जैसा रहता है जबकि झूठ के कई रूप होते हैं। उन्होंने कहा कि समाज में रहकर और अपनी जिम्मेवारियों को निभाते हुए भी साधना की जा सकती है। योग मन को विचलित होने से बचाता है, शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है तथा ध्यान केंद्रित करने में सहयोग करता है। योग इस देश की धरोहर है और हमें इस पर गर्व करना चाहिए। अधिष्ठाता डॉ. प्रमोद कुमार ने बताया कि अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर विश्वविद्यालय में विभिन्न आयु वर्गों में योगाभ्यास प्रतियोगिता भी आयोजित की गई। इनमें 5 से 15 आयु वर्ग में यश ने प्रथम, आयुष ने द्वितीय तथा साहिल ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। इसी वर्ग में लड़कियों में नमिषा ने प्रथम, ईशा ने द्वितीय तथा शर्मिला ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। 15 वर्ष से अधिक उम्र के लडक़ों में कर्मवीर, पवन व अखिलेश ने प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त किया। 15 वर्ष से अधिक उम्र की लड़कियों में राजेश कुमारी, मोना यादव व मनीषा यादव क्रमश: प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पर रहीं। विश्वविद्यालय स्टॉफ  व अन्य प्रतिभागियों के लिए आयोजित प्रतियोगिता में नरदेव ने प्रथम, प्रशांत दुबे ने द्वितीय तथा बासुदेव कुमार विश्वकर्मा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।
कार्यक्रम के अंत में विश्वविद्यालय के कुलपति, कुलसचिव सहित विभिन्न संकायों के अधिष्ठाता, विभागाध्यक्ष व शिक्षणेतर कर्मचारियों द्वारा पौधारोपण भी किया गया। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलसचिव श्री राम दत्त, प्रो. सतीश कुमार, प्रो. नीलम सांगवान, प्रो. नवल किशोर, प्रो. संजीव कुमार, प्रो. अमर सिंह, विद्या अधिकारी मनोरंजन त्रिपाठी व परीक्षा नियंत्रक डा. विपुल याद