दोहरी मानसिकता पर व्यंग्य 

दोहरी मानसिकता पर व्यंग्य 

मैं भारत का नागरिक हूं ,मुझे शीघ्र न्याय चाहिए;
पेड़ तो  मैं लगाऊंगा  नहीं ,पर वातावरण मुझे स्वच्छ चाहिए ;
कार्बन डाइऑक्साइड जैसी विषैली गैसें मैं पैदा करूंगा ही, पर प्रदूषण मुक्त भारत चाहिए ;
बिना रिश्वत  लिए कुछ करूंगा नहीं, पर भ्रष्टाचार का अंत चाहिए ;
घर बाहर कूड़ा फेकूंगा ही , पर शहर मुझे स्वच्छ चाहिए ;
काम ना करूं धेले भरका, पर वेतन पहली तारीख को चाहिए ;
एक नेता स्वार्थवश जुमले में कुछ कह गया हो, तो खाते में पंद्रह लाख चाहिए।
मैं भारत का नागरिक हूं ,मुझे शीघ्र न्याय चाहिए ;
बैंकों से ऋण मिले बिलकुल सस्ता, पर बचत पर ब्याज बढ़ा चाहिए ;
जाति के नाम पर दिलों को तोड़ता  जाऊं  ,पर देश धर्मनिरपेछ चाहिए ;
तीन तलाक और निकाह हलाला के बिल पर शान्त रहूं ,
पर मुस्लिम महिलाओं से सहानुभूति दिखानी चाहिए ;
महिला- आरछण बिल पास ना होने दूं ,
पर महिलाओं के आरछण पर सहानुभूति दिखानी चाहिए ;
भ्रूण हत्या को बंद ना करूं ,पर नारी संख्या नर से कम नहीं चाहिए ;
लड़कों से गलती हो जाये कहूं ,पर बलात्कार मुक्त भारत चाहिए।
मैं भारत का नागरिक हूं ,मुझे शीघ्र न्याय चाहिए ;
मादक पदार्थों की बिक्री पर पूर्ण  प्रतिबन्ध ना लगे,पर युवक कर्मठ चाहिए ;
तोंद बाहर निकलने पर कोई रोक- टोक ना हो  ,पर  सिपाही चुस्त -दुरुस्त चाहिए ;
परीक्षा में नकल करने पर  नियंत्रण  ना हो ,पर समाज शिक्षित चाहिए ;
चुनावों के खर्चे पर नियंत्रण ना हो ,पर राजनीति स्वच्छ चाहिए ;
बिजली मैं बचाऊंगा नहीं ,पर बिजली दर कम चाहिए ;
लोक सभा की कार्य प्रणाली में बाधा डालूँगा ही ,
पर जीवन -पर्यन्त सारी सुख सुविधाएं चाहिए।
मैं भारत का नागरिक हूं ,मुझे शीघ्र न्याय चाहिए ;
भीड़ तो एकत्रित  करूंगा ही ,पर भीड़ -तंत्र नहीं चाहिए ;
लोक -तंत्र का तो मैं  समर्थक हूं ,पर लोक -पाल संस्था नहीं चाहिए ;
सर्वोच्च न्यायालय का तो  सम्मान करूंगा ही ,पर उसके कुछ नियमों में मनमानी चाहिए ;
लोक सभा और राज्य सभा में तो शोर मचाऊंगा ही ,पर भारत में शान्ति चाहिए ;
मैं तो अन्याय करूंगा ही ,पर न्यायप्रिय भारत चाहिए ;
मैं भारत का नागरिक हूं ,मुझे दोनो हाथों में लडडू चाहिए।
सतीश चन्द्र पुरी ,
(अवकाश प्राप्त प्राध्यापक ) डी ए वी कॉलेज ,जालन्धर ,पंजाब

 

December 2018
S M T W T F S
« Nov    
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
3031  

Advertisement

Advertisement