Haryana

पुलिस ने महिला कालेज में बिना हथियार रक्षा करने बारे बताया

पुलिस ने महिला कालेज में बिना हथियार रक्षा करने बारे बताया

पुलिस ने महिला कालेज में बिना हथियार रक्षा करने बारे बताया

महिला कालेज में लड़कियों को रक्षा करने की जानकारी देती पुलिस अधिकारी।
त्रिभुवन वर्मा द्वारा :
नारनौल, 7 नवंबर 2019। हरियाणा पुलिस सप्ताह दिवस पर अभियान पर वीरवार को महिला कालेज की छात्राओं को महिला पुलिस ने विपत्ति के समय बिना हथियार अपनी रक्षा कैसे की जाए के बारे में सिर लाया।
इस संबंध में पुलिस प्रवक्ता नरेश कुमार ने बताया कि हरियाणा पुलिस द्वारा हरियाणा पुलिस सप्ताह मनाया जा रहा है। आज इस अभियान का तीसरा दिन है। जिसके तहत आज अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मकसूद अहमद ने महिला कालेज में पहुंचे, जहां कालेज की प्राचार्या डा. ममता सिद्धार्थ ने फूलों का गुलदस्ता देकर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक का कालेज परिसर में स्वागत किया। इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने छात्राओं को अचानक हुए हमले में बिना हथियार अपना बचाव कैसे करें, इस बारे में महिला एच.सी. ओ. सम्मत व सुनीता ने कॉलेज परिसर में जूडो-करांटे का डेमो दिलाकर अपना बचाव करने के गुर सिखाए व दाव-पेच भी बताए। उन्होंने बताया कि हमें अपनी रक्षा कैसे करनी चाहिए। इस मौके पर ए.एस.पी. अपने संबोधन में कहा कि महिलाओं को डरने की जरूरत नहीं है, जब कभी किसी शरारती तत्व द्वारा उन पर अचानक हमला कर दिया जाता है या किसी परिस्थिति में वे फंस जाती हैं तो वे अपना हौसला नहीं खोएं, पूरी बहादुरी से उसका मुकाबला करें, इसके लिए उन ेसभी को जूडो-करांटे का अनुभव होना चाहिए। लड़कियां अपना बचाव कर सकती हैं। इसके बाद दुर्गा शक्ति नाम से ऐप बना हुआ है,वे उस पर भी सूचना डाल सकती हैं। जिसकी सूचना मिलते ही उनकी सहायता के लिए पुलिस तुरंत पहुंच जाएगी। उन्होंने बताया कि यदि आवारा किस्म के लडक़े जब उन्हें परेशान करते हैं तो वे डरें नहीं, बल्कि तुरन्त पुलिस को सूचना दें। इस मौके कालेज प्राचार्या डा. ममता सिद्धार्थ, निरीक्षक महेश कुमार, महिला प्रबंधक कमला देवी, एस.आई.आई. फूल कुमार के अलावा महिला कालेज स्टाफ  व छात्राएं भी उपस्थित थे।