Hindi News

प्रदेश में 4700 से अधिक सरकारी स्कूलों को स्मार्ट स्कूल में किया जा चुका है तब्दील: कैबिनेट मंत्री सिद्धू

– सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्मार्ट स्कूल ढड्डा फतेह सिंह का किया उद्घाटन
– कहा, शिक्षा व स्वास्थ्य क्षेत्र में सुधार सरकार की प्राथमिकता
– जिले के 119 स्कूल बन चुके हैं स्मार्ट स्कूल, 62 अन्य सरकारी स्कूलों को भी बनाया जा रहा है स्मार्ट

होशियारपुर, 14 अगस्त,2019: पंजाब सरकार सरकारी स्कूलों में आधारभूत ढांचे को मजबूत करने के साथ-साथ शिक्षा प्रणाली को और प्रभावी व मजबूत बनाने के लिए वचनबद्ध है। इसी वचनबद्धता क दोहराते हुए सरकार की ओर से प्रदेश के सरकारी स्कूलों को स्मार्ट स्कूल के तौर पर विकसित किया जा रहा है। यह विचार स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री बलवीर सिंह सिद्धू ने आज होशियारपुर के सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्मार्ट स्कूल ढड्डा फतेह सिंह के उद्घाटन के दौरान स्कूल में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए रखे। इस दौरान उनके साथ विधान सभा क्षेत्र शाम चौरासी के विधायक श्री पवन आदिया, विधान सभा क्षेत्र टांडा उड़मुड़ के विधायक श्री संगत सिंह गिलजियां व डिप्टी कमिश्नर श्रीमती ईशा कालिया भी विशेष तौर पर मौजूद थे। उन्होंने कहा कि सरकार की पहली प्राथमिकता ही शिक्षा व स्वास्थ्य क्षेत्र में सुधार की है।
कैबिनेट मंत्री श्री बलवीर सिंह सिद्धू ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि पंजाब सरकार की ओर से शिक्षा में किए गए सुधार के चलते लोगों में सरकारी स्कूलों के प्रति विश्वास बढ़ा है। उन्होंने कहा कि सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्मार्ट स्कूल ढड्डे फतेह सिंह इसकी मिसाल है जहां पर दाखिला लगातार बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 4700 से अधिक सरकारी स्कूल स्मार्ट स्कूल में तब्दील हो चुके हैं, जिनमें होशियारपुर जिले के 181 स्कूलों को स्मार्ट स्कूल बनाने का कार्य चल रहा है, जिनमें से 119 स्कूल स्मार्ट स्कूल बन चुके हैं। उन्होंने कहा कि इन 119 में से 65 सरकारी मिडल से लेकर सीनियर सेकेंडरी स्कूल व 54 सरकारी ऐलीमेंट्री स्कूल शामिल हैं। उन्होंने कहा कि कहा कि स्कूल की बेहतरी में सबसे बड़ी भूमिका अध्यापकों की होती है और उनकी मेहनत व लगन से ही स्कूल आगे बढ़ते हैं। उन्होंने विद्यार्थियों को कहा कि वे नशे के खिलाफ पंजाब सरकार की ओर से चलाए गए बडी अभियान में शामिल होकर जागरु कता फैलाएं। उन्होंने नौजवानों को नशे से दूर रह कर पढ़ाई व खेल की ओर से रु झान बढ़ाने के लिए प्रेरित किया।
कैबिनेट मंत्री श्री सिद्धू ने इस दौरान पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि सरकारी अस्पतालों के कायाकल्प के लिए सरकार प्रयासरत है और जल्द ही सरकारी अस्पतालों में लोग सकारात्मक बदलाव देखेंगे। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की मुख्य प्राथमिकता है कि मरीज का सही समय पर सही इलाज हो, जिसके लिए सरकारी अस्पतालों में डाक्टरों व अन्य स्टाफ की भर्ती के अलावा आधारभूत ढांचे में सुधार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार 20 अगस्त से पूरे प्रदेश में आयुष्मान भारत सरबत स्वास्थ्य बीमा योजना शुरु  करने जा रही है, जिसके अंतर्गत प्रदेश के 43 लाख परिवारों को स्वास्थ्य बीमा योजना का फायदा मिलेगा। उन्होंने कहा कि इस योजना के अंतर्गत प्रदेश की 80 प्रतिशत आबादी कवर हो जाएगी। इस दौरान विधायक श्री पवन आदिया ने भी संबोधित करते हुए पंजाब सरकार की ओर से शिक्षा पर किए जा रहे कार्यों के बारे में विस्तारपूर्वक बताया। इस अवसर पर अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर(सामान्य) श्री हरप्रीत सिंह सूदन, जिला शिक्षा अधिकारी(से) श्री मोहन सिंह लेहल, जिला शिक्षा अधिकारी(ए) श्री कुलवंत सिंह, सिविल सर्जन डा. जसवीर सिंह, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी श्री सर्बजीत सिंह, उप जिला शिक्षा अधिकारी(से) श्री राकेश कुमार, उप जिला शिक्षा अधिकारी(ए) श्री धीरज वशिष्ठ, सहायक सिविल सर्जन डा. पवन कुमार, स्कूल प्रिंसिपल श्री सलिंदर सिंह के अलावा अन्य गणमान्य भी उपस्थित थे।