प्लास्टिक की थैली कि बजाय कांच की बोतल में हो दूध की सप्लाई, समस्या समाधान टीम ने लिखा प्रशासक को पत्र।

प्लास्टिक की थैली कि बजाय कांच की बोतल में हो दूध की सप्लाई, समस्या समाधान टीम ने लिखा प्रशासक को पत्र। चंडीगढ़ :आज प्लास्टिक फ्री डे के मौके पर समस्या-समाधान टीम के सदस्यों ने सेक्टर 19 के सदर बाजार में जूट और कपड़े से बने बैग व थैले लोगों में
बांटे और लोगों को प्लास्टिक फ्री इन्वायरमेंट बनाने के लिए जागरूक किया।
प्लास्टिक से हो रहे नुकसान के बारे में लोगों को जागरूक किया। लोगों को
जागरुक करते हुए समस्या समाधान टीम के महासचिव मनोज शुक्ला ने लोगों को बताया कि प्लास्टिक कभी भी नष्ट नही होता इसलिए इससे प्रकृति को बहुत नुकासन हो रहा है। जब हम लोग प्लास्टिक को खुले में गिरा देते है तो इसको जानवर खा जाते है, जिसके कारण उनकी मौत तक हो जाती है। इस मौके पर समस्या समाधान टीम ने लोगों को प्लास्टिक बैग के उपयोग ना करने की शपथ दिलवाई। समस्या समाधान टीम की रवि ज्योति और मुकेश मिश्रा ने कहा कि प्रशासन को हर तरह के प्लास्टिक उत्पादों पर प्रतिबंध लगाना चाहिए, परंतु प्रशासन ने
अभी भी बहुत से प्लास्टिक उत्पादों को मान्यता दी हुई है, जो कि गलत निर्णय है। इसलिए हम इसके पूर्ण रूप से प्रतिबंध कि मांग करते है।
चंडीगढ़ में सब से ज्यादा हर रोज  सब से बड़ी तादात में प्लास्टिक का प्रयोग दूध कि थैली के रूप में होता है इसलिए हमने चंडीगढ़ के प्रशासक और डीसी साहब को चिट्ठी लिख कर दूध को कांच कि बोतलों में सप्लाई करने को मांग रखी है। इससे प्लास्टिक फ्री चंडीगढ़ बनाने में मदद मिलेगी। इस फैसले को लागू करने में कोई भी कठिनाई नही होगी क्योंकि नब्बे के दशक में  दूध बोतलों में ही आता था।

यादविन्द्र सिंह राणा 

All Time Favorite

Categories