भारी पुलिस बल की मौजूदगी में अकबरपुर रामू में हुआ दोबारा मतदान

भारी पुलिस बल की मौजूदगी में अकबरपुर रामू में हुआ दोबारा मतदान
नारनौल विधानसभा के गांव अकबरपुर रामू के बूथ नम्बर-28 पर हुए पुनर्मतदान प्रक्रिया के दौरान गेट पर तैनात भारी पुलिस बल तथा वोट डालने के लिए लाइन में खड़ी महिलाएं अपनी वोटर आई-डी दिखाती हुई।

व्यक्ति की रिहाई की मांग पर अड़े ग्रामीण, प्रशासन के आश्वासन के बाद शुरू हुई मतदान प्रक्रिया
-ग्रामीणों ने पिछली मतदान प्रक्रिया में 856 मत व अब 824 मत डाले गए
बी.एल. वर्मा द्वारा :
नारनौल, 23 अक्टूबर 2019  :  21 अक्टूबर को नारनौल विधानसभा के गांव अकबरपुर रामू के बूथ नम्बर-28 पर एक व्यक्ति ने मशीन तोडऩे के कारण चुनाव आयोग ने आज दोबारा मतदान करवाया। सुबह 6 बजे से पहले ही गांव के बूथ नम्बर-28 पर बने मतदान केंद्र के अंदर व बाहर भारी पुलिस बल तैनात था। जबकि सुबह ग्रामीणों ने पुलिस द्वारा मशीन तोडऩे के आरोप में गिरफ्तार किए गए व्यक्ति की रिहाई की मांग को लेकर मतदान का बहिष्कार किया गया, लेकिन बाद में एसडीएम एवं नारनौल विस के रिटर्निंग अधिकारी ने ग्रामीणों को कानून के दायरे में रहकर मदद करने का आश्वासन दिया, जिसके बाद ग्रामीणों ने मतदान प्रक्रिया शुरू की। मतदान करीब सुबह दस बजे शुरू करवाया गया। इस दौरान मतदान केन्द्र पर डीसी जगदीश शर्मा एवं एसपी दीपक सहारण, डीएसपी मित्रपाल व डीएसपी साधुराम समेत अनेक अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे। वहीं दूसरी ओर चुनाव करवाने के लिए विभिन्न पार्टियों के प्रत्याशी व उनके कार्यकर्ता भी उपस्थित थे। जहां एक ओर ग्रामीणों ने 21 अक्टूबर को 856 मतों को प्रयोग किया गया था, वहीं आज के मतदान में 824 मतों का प्रयोग किया।

भारी पुलिस बल की मौजूदगी में अकबरपुर रामू में हुआ दोबारा मतदान उल्लेखनीय है कि 21 अक्टूबर को जब मतदान सुचारु रूप से चल रहा था, तब गांव का एक मतदाता सचिन भी मतदान करने पहुंचा था। जब वह मतदान कर रहा था, तभी वीवी पैट मशीन टेबल से फर्श पर गिर दी, जिसके कारण वह क्षतिग्रस्त हो गई। बाद में पोलिंग चलाने पर कुल 856 वोट पोल किए गए। प्रशासन ने इसकी रिपोर्ट हरियाणा चुनाव आयोग को भेज दी। दूसरी ओर चुनाव अधिकारियों द्वारा पुलिस में लिखित शिकायत देने पर मुकदमा दर्ज कर सचिन को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस द्वारा आरोपित को अदालत में पेश किया गया, तब उसे न्यायालय ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया। इसके बाद हरियाणा चुनाव आयोग की ओर से बुधवार देर शाम को करीब साढ़े सात बजे बूथ नं 28 पर पुनर्मतदान करवाने के आदेश दिए गए। मतदान प्रक्रिया से पूर्व ग्रामीणों ने उपायुक्त के नाम एक ज्ञापन भी दिया, जिसमें उन्होंने लिखा है कि 21 अक्टूबर को सचिन चक्कर खाकर मशीन पर गिर गया था, जिस कारण वह टूट गई थी। इसमें वह निर्दोष है, लेकिन उसे गिरफ्तार कर लिया गया, जिससे ग्रामीणों में रोष है। मगर वह एसडीएम के विश्वास पर मतदान करने को तैयार हैं। ज्ञापन पर ग्रामीणों ने प्रत्याशियों ओमप्रकाश यादव, राव नरेंद्र सिंह एवं कमलेश सैनी भी हस्ताक्षर करवाए। ग्रामीणों ने मदद का आश्वासन मिलने उपरांत मतदान में हिस्सा लिया। मगर तब तक रूठों को मनाने में करीब दो तीन घंटे का समय बीत गए। जब मतदान में ग्रामीणों ने हिस्सा लेना शुरू कर दिया तो गांव में यह संदेश फैलाया गया और अन्य ग्रामीण भी मतदान में हिस्सा लेने पहुंचे।

About the author

SK Vyas

SK Vyas

Add Comment

Click here to post a comment

All Time Favorite

Categories