भूमि अधिग्रहण से प्रभावित किसानों ने उपायुक्त को सौंपा ज्ञापन 

-सरकार कम दामों पर अधिग्रहण कर रही है किसानों की भूमि
बी.एल. वर्मा द्वारा
नारनौल 10 जुलाई 2019
अखिल भारतीय किसान सभा के नेतृत्व में भूमि अधिग्रहण से प्रभावित जिला के किसानों ने बुधवार को प्रधान महेन्द्र कुमार के नेतृत्व में उपायुक्त जगदीश शर्मा के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम मांग पत्र सौंपा। इससे पूर्व किसान सभा के सभी सदस्य स्थानीय लघु सचिवालय स्थित पार्क में एकत्रित हुए व प्रदर्शन किया।
जिला प्रधान महेन्द्र कुमार यादव ने बताया कि मांग पत्र के माध्यम से बताया कि भूमि अधिग्रहण की जाने वाली भूमि को सरकार बहुत कम दामों पर किसान से लें रही है। जिसके चलते किसानों को सरकार के द्वारा बर्बाद किया जा रहा है। जिला महेन्द्रगढ में प्रस्तावित तीन नेशनल हाई वे एन.एच.जे. प्रथम, एन.एच 152डी तथा एन.एच. 148बी के लिए बहुत अधिक किसानों की भूमि का अधिग्रहण सरकार के द्वारा किया जा रहा है। जिससे किसानों के पास निर्वाह के लिए किसानों के पास जमीन नहीं बची व बाजार के भाव से कम दामों के हिसाब अधिग्रहण किया जा रहा है। जिसके कारण किसान मरने के लिए विवश है। सरकार विकास के नाम पर किसानों को बर्बाद कर रही है।
उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राज मार्ग प्राधिकरण जमीन अधिग्रहण प्रक्रिया के माध्यम से किसानों की जमीन हड़प रही है तथा जमीनों का मुआवजा राशि कम देकर किसानों को पलायन करने के लिए मजबूर कर रही है। जिसे किसी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। सरकार से मांग करते है कि क्लेक्टर रेट बढ़ाकर अन्य जिलों की तरह किसानों को मुआवजा राशि दी जाए। अन्यथा किसान आर पार की लड़ाई लडऩे के लिए मजबूर होंगे, जिसकी जिम्मेवारी सरकार की होगी। मांग पत्र देने में गांव बडग़ांव, बडकोदा, मिर्जापुर, बाछौद व सराय सुरानी के किसान मौजूद थे। इस अवसर पर पूर्व सरपंच मुसद्दी लाल, पूर्ण चंद, भूप सिंह, इन्द्राज, रमेश, रामसिंह, सूरत सिंह, बिशम्बर दयाल, महावीर प्रसाद, कृष्ण कुमार, जगमोहन, निरंजन, सत्यवीर सिंह, दयाराम, अमरसिंह, सुरेश, अभय सिंह, अनिल कुमार व सज्जन सिंह सहित अनेक गांवों के किसान मौजूद थे।

All Time Favorite

Categories