मध्यप्रदेश की नाबालिग बच्ची को पुलिस ने परिजनों को सौंपा

मध्यप्रदेश की नाबालिग बच्ची को पुलिस ने परिजनों को सौंपा

गांव नीरपुर के पास पाई गई नाबालिग लडक़ी को पुलिस परिजनों को सौंपती हुई।
त्रिभुवन वर्मा द्वारा :
नारनौल, 8अक्टूबर 2019। घर से नाराज होकर मध्य प्रदेश के जिला निवाड़ी गांव मनिया की रहने वाली नौवीं कक्षा की छात्रा 15 वर्षीय छात्रा पिंकी को आज पुलिस ने उसके परिवार के हवाले किया है। पिंकी के परिजनों ने पुलिस का आभार जताते हुए बेटी मिलने की खुशी जताई।
इस संबंध में पुलिस प्रवक्ता नरेश कुमार ने बताया कि रविवार रात करीब 10 नीरपुर चौक से किसी रेहड़ी वाले ने पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी कि कोई लडक़ी काफी देर से यहां बैठी है। जिसके साथ कोई नहीं है। कंट्रोल रूम ने महाबीर पुलिस चौकी को सूचित किया। सूचना मिलते ही तुरंत महाबीर चौकी से एएसआई रामभक्त व महिला पुलिस कर्मचारी तुरंत रेवाड़ी रोड़ नीरपुर चौक पर पहुंची, जो वहां एक नाबालिग लडक़ी बैठी हुई थी, लडक़ी से यहां पहुंचने का कारण पूछा तो लडक़ी ने बताया कि मेरा नाम पिंकी है और वह गांव मनिया जिला निवासी मध्य प्रदेश की रहने वाली है और मैं अपनी मां से नाराज होकर घर छोडक़र ट्रेन में बैठ कर दिल्ली आ गई और वहां से बस पकडक़र यहां आ गई हूं। इसकी सूचना तुरन्त पुलिस अधीक्षक दीपक सहारन को दी गई। पुलिस अधीक्षक ने तुरन्त संज्ञान लेते हुए आदेश दिए कि जल्द से जल्द इसके गांव के थाना में सम्पर्क कर इसके परिवार को सूचना दी जाए। पुलिस कंट्रोल के माध्यम से थाना पृथ्वीपुर मध्य प्रदेश में सम्पर्क किया तो थाना के प्रबंधक ने लडक़ी कि गुमशुदगी के बारे बताया ओर पिंकी के पिता कमलेश को उसके गांव मनिया में पिंकी के नारनौल होने बारे सूचना दी। पिंकी के परिजनों से सम्पर्क साधा तब तक पुलिस ने पिंकी को महिला एवं बाल विकास अधिकारी को पेश कर वन स्टाप सेंटर में रखा। पिंकी के परिजन व गांव का मुखिया ओर लडक़ी की मां जानकी देवी महाबीर पुलिस चौकी पहुंची। पिंकी को उसके परिजन के हवाले किया परिवार ने खुशी जाहिर की ओर पुलिस के कार्य की सराहना करते हुए धन्यवाद किया है। पिंकी की मां जानकी ने बताया कि मैंने मेरी बेटी को पढ़ाई को लेकर धमका दिया था। उसी वजह से 4 दिन पहले नाराज होकर घर छोड़ कर आ गई थी, जिसकी हम तलाश कर रहे थे।

About the author

SK Vyas

SK Vyas

Add Comment

Click here to post a comment

All Time Favorite

Categories