राव तुला राम मेमोरियाल अस्पताल में 270 बेड की नई बिल्डिंग का सीएम ने किया शिलान्यास, सीएम बोले दिल्ली के हर कोने तक पहुंचा विकास

राव तुला राम मेमोरियाल अस्पताल में 270 बेड की नई बिल्डिंग का सीएम ने किया शिलान्यास, सीएम बोले दिल्ली के हर कोने तक पहुंचा विकास – केंद्र व अन्य राज्य सरकारें अस्पताल का एक बेड़ बनाने में खर्च करती हैं एक करोड़, दिल्ली सरकार 25 लाख में बना रही एक बेड़ – सीएम

– पांच साल पहले की सरकारों में दिल्ली देहात को किया गया नजरअंदाज, पिछले पांच साल में पहुंची विकास की बयार – श्री अरविंद केजरीवाल
पहले की सरकारें व मुख्यमंत्री की नजर में दिल्ली में कोई देहात ही नहीं था। इसी कारण दिल्ली देहात के साथ सौतेला व्यवहार होता था और विकास के काम नहीं होते थें। पिछले पांच साल में जब से आम आदमी पार्टी की सरकार बनी दिल्ली देहात भी मुख्यधारा से जुड़कर विकास की पटरी पर दौड़ लगा रहा है। पिछले पांच साल में स्कूल, पानी, बिजली, अस्पताल सब ठीक हो गए। आज राव तुला राम मेमोरियाल अस्पताल में 270 बेड की नई बिल्डिंग का शिलान्यास हो गया। जिसमें दिल्ली के किसी भी निजी अस्पताल जैसी सुविधाएं होंगी। जहां यह अस्पताल बनेगा वहां से महज 4 किलोमीटर दूर ही हरियाणा है। इससे इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि दिल्ली में विकास आखरी छोर तक पहुंचा है। यह सब भ्रष्टाचार व फिजूलखर्ची रोकने की वजह  से हो रहा है। हम अस्पताल का एक बेड़ 25 लाख में बनवा रहे हैं। केंद्र व अन्य सरकारें अस्पताल का एक बेड़ 1 करोड़ में बनवाती है। इस तरह जो 75 लाख रुपये बचते हैं, उससे हम लोगों की बिजली, पानी, बस में महिलाओं की यात्रा मुफ्त कर देते हैं। यह बात दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने नजफगढ़ में राव तुला राम मेमोरियाल अस्पताल में 270 बेड की नई बिल्डिंग के भूमिपूजन व शिलान्यास कार्यक्रम के दौरान कहीं। उनके साथ  स्वास्थ्य  मंत्री सतेंद्र जैन तथा परिवहन मंत्री व नजफगढ़ से विधायक कैलाश गहलोत भी मौजूद थें।

मुझे बताया गया अभी तक नजफगढ़ कोई मुख्यमंत्री नहीं आया था, मैं विकास लेकर आया –  श्री अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री  श्री  अरविंद केजरीवल ने राव तुला राम जी की जयंती के अवसर पर लोगों को बहुत बधाई दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि राव तुला राम जी हमारे देश के बहुत बड़े योद्धा और महापुरुष थे। उन्होने 1857 की लड़ाई मे अंग्रेजों से लोहा लिया। उन्होने इस इलाके के लिए भी खूब काम किया। आज उस महान आत्मा की याद मे हम सब एकत्र हुए हैं और उन्हीं की याद मे यह अस्पताल बना हुआ है। हरियाणा यहा से करीब 4 किलोमीटर दूर है। हमने हरियाणा के बार्डर पर 270 बेड का यह अस्पताल बनवा रहे हैं। हमारी सरकार मे दिल्ली के कोने-कोने मे विकास हो रहा है। यह दिल्ली का एक कोना है और हम इस कोने को भी नहीं भूले। मैंने जानकारी ली कि पिछली बार यहाँ कोई मुख्यमंत्री कब आया था। मुझे बताया गया कि संभवतः अभी तक यहाँ कोई मुख्यमंत्री ही नहीं आया है।

दिल्ली की पहली सरकार, जो कोने-कोने तक कर रही विकास –  श्री अरविंद केजरीवाल
मुख्यमंत्री  श्री अरविंद केजरीवाल ने कहा पूर्व कि सरकारों मे बैठे लोग जब कहते थे कि दिल्ली का विकास हो रहा है, तो उनको दिल्ली का गाँव- देहात कभी दिखाई नहीं दिया। यह पहली सरकार है, जो दिल्ली के कोने-कोने मे जाकर विकास कर रही है। यह सरकार गाँव व देहात का ज्यादा ख्याल रख रही है। इतना ख्याल अभी तक किसी दूसरी सरकार ने कभी भी नहीं रखा। इसी का परिणाम है कि आज यहा 270 बेड का अस्पताल बन रहा है। इस क्षेत्र मे अब तक करीब 20 मोहल्ला क्लीनिक खुल चुके हैं। किसी सरकार ने गाँव-गाँव मे जाकर मोहल्ला क्लीनिक खोलने के बारे मे कभी नहीं सोचा। यह पहली सरकार है, जो गाँव-गाँव जाकर मोहल्ला क्लीनिक खोल रही है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज तक दूसरी सरकारों ने दिल्ली के देहात के साथ पूरी तरह से सौतेला व्यवहार किया है। जब हमने नई-नई पार्टी बनाई थी, उस दौरान दिल्ली मे ओले पड़े थे। फसलें खराब हो गई थी। उस दौरान दिल्ली की तत्कालीन मुख्यमंत्री से मीडिया ने पूछा था कि फसलें खराब हो गई है। क्या किसानों को कुछ मुआवजा सरकार देगी। दिल्ली मे 15 साल तक राज करने वाली मुख्यमंत्री ने कहा था कि अच्छा, दिल्ली मे फसलें भी होती हैं। 15 साल तक राज करने के बाद भी मुख्यमंत्री को यह नहीं पता था कि दिल्ली मे देहात भी है और उस देहात मे लोग खेती भी करते हैं। जब हमने दिल्ली मे सरकार बनाई, उसके चार महीने बाद ही अप्रैल के महीने मे बारिश होने से फसलें बर्बाद हो गई थी। उस दौरान मैं खुद 10 से 15 गांवो का दौरा किया  था और देखा था कि फसलें बर्बाद हो गई है। उस दौरान हमारी सरकार ने किसानों के लिए योजना बना कर 50 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से मुआवजा दिया था। हमने घोषणा करने के चार महीने के अंदर ही किसानों के खाते मे पैसे भेज दिये थे। किसी किसान को दो-तीन साल तक मुआवजा मिलने का इंतजार करने कि जरूरत नहीं पड़ी। हर गाँव मे सीवर, पानी, बिजली, ट्रांसपोर्ट आदि समस्याएँ होती हैं। इसीलिए मैं हर किसान से मिलता हूँ। हमारे विधायक हर गाँव के लोगों को लेकर आते हैं। हमने हर गाँव की समस्याओं कि एक लिस्ट बना रखी है। हमारी सरकार ने बहुत बड़े स्तर पर पानी की पाइप लाइन बिछवाई है।

पहले 58 प्रतिशत घरों में टोंटी से पानी जाता था, अब 93 प्रतिशत घरों में टोटी से जा रहा पानी –  श्री अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जब मैं मुख्यमंत्री बना, उस दौरान दिल्ली मे 58 प्रतिशत लोगों के घरों मे टोंटी से पानी जाता था। बाकी दिल्ली मे टैंकरों से पानी जाता था। हमारी सरकार ने इतनी पाइप लाइन बिछाई कि अब 93 प्रतिशत लोगों के घरों मे टोंटी से पानी पहुँच रहा है। सिर्फ 7 प्रतिशत दिल्ली मे अभी तक टैंकर से पानी पहुँच रहा है। इन 7 प्रतिशत घरों मे भी अगले एक साल में पाइप लाइन बिछा कर टोंटी से पानी पहुंचा दिया जाएगा। हमारा पहला मकसद टैंकर माफियाओं को खत्म करना था। दूसरा मकसद हर घर मे टोंटी से 24 घंटे पानी पहुंचाना है। टोंटी से हर घर मे पानी अगले एक साल मे पहुँच जाएगा। अभी कुछ इलाकों मे एक, दो, तीन घंटे पानी आता है। अगले पाँच साल के अंदर हर घर मे टोंटी से पानी 24 घंटे आएगा। साथ ही पानी ऐसा होगा कि टोंटी से पी सकेंगे।  अभी कई गांवों में काफी समस्याएँ हैं। हम उन समस्याओ को खत्म करने पर काम कर रहे हैं। आजादी के 70 साल बाद से चली आ रही समस्या पाँच साल मे पूरे नहीं हो सकती, लेकिन यह जरूर है कि अभी तक जंग लगाने से जो गाड़ी रूक गई थी, वह अब दौड़ रही है।

केंद्र सरकार 100 बेड़ का अस्पताल 100 करोड़ में बना रही, हम 270 बेड़ का अस्पताल 65 करोड़ में बना रहे हैं –  श्री अरविंद केजरीवाल
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इसी इलाके मे केंद्र सरकार ने तीन साल पहले 100 बेड का एक अस्पताल बनाना चालू किया और अभी तक अस्पताल बना नहीं है। वो 100 बेड का अस्पताल 100 करोड़ रुपए मे बना रहे हैं। आज हम 270 बेड का अस्पताल 65 करोड़ मे बना रहे हैं। वो एक बेड एक करोड़ रुपए मे बना रहे हैं। हम बेड लगभग 25 लाख रुपए मे बना रहे हैं। यह अस्पताल हम केंद्र सरकार के अस्पताल से अच्छा बनाएँगे। पूरा अस्पताल एयर कंडीशर होगा और जीतने भी दिल्ली मे बड़े बड़े प्राइवेट अस्पताल चल रहे हैं उससे सुविधाएं कम नहीं मिलेंगी। वो 100 करोड़ रुपए मे एक बेड बना रहे हैं और हम मात्र 25 लाख रुपए मे बना रहे है। एक बेड पर 25 लाख रुपये ही खर्च आता है। 75 लाख रुपये कहाँ जाता है, यह समझ सकते हैं। अब हमने वह पैसा बचना हुरू कर दिया है। लोग हमसे पूछते हैं कि स्कूल बनवा दिया, अस्पताल बनवा दिया। बिजली व पानी सस्ती कर दिया। इतने सीसीटीवी कैमरे लगवा दिया। अब दो लाख स्ट्रीट लाइट पूरी दिल्ली मे लगाने जा रही है। पहले जो पैसा चोरी होता था अब वह पैसा चोरी होना बंद हो गया है। पहले पैसा फिजूल खर्च होता था। अब फिजूल खर्ची बंद कर दिया गया। हमने 140 करोड़ रुपये खर्च कर दिल्ली कि सारी महिलाओं की बस मे यात्रा मुफ्त करा दिया। वहीं अन्य मुख्यमंत्री हैं उन्होने अपने घूमने के लिए 191 करोड़ रुपए का हवाई जहाज खरीदा। मैंने अपने घूमने के लिए हवाई जहाज नहीं खरीदा, बल्कि अपनी माँ बहनों की यात्रा फ्री कर दी। वो कहते हैं कि पैसा कहा से आता है। मैं कहता हूँ कि पैसा फिजूलखर्ची खत्म करने और भ्रष्टाचार खत्म होने से आया।
मैं रोज गांव वालों से मिलता हूं, मुझे हर गांव की एक-एक समस्या मालूम है –  श्री अरविंद केजरीवाल
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज सबसे अच्छी बात यह है कि आप अपने मुख्यमंत्री से मिल सकते हैं। मैं रोज गाँव से आने वाले मिलने आने वाले लोगों से मिलता हू। मुझे हर एक गाँव कि समस्या के बारे मे पता है। सभी समस्याओ कि लिस्ट बना रखी है। उन सभी समस्याओं को खत्म करने का प्रयास तेजी से चल रहा है। सीएम ने कहा कि पिछले पाँच साल में आपने देखा होगा कि इन लोगों ने कितना हम लोगों को परेशान करने कि कोशिश की। इसके बाद भी हम काम कराने मे लगे रहे और इतने काम करा दिये कि अगर यह लोग हमे तंग नहीं करते तो आप सोच सकते हैं कि हम कितने काम कराते। अभी भी जीतने काम बच गए हैं, वे सारे काम कराऊंगा। बस जितना प्यार और मोहब्बत आप लोग अभी तक हमें देते रहे हैं। उस प्यार और मोहब्बत को बनाए रखिए। पहले की तरह ही आप हम पर अपना विश्वास बनाए रखें।

821 नंबर बस दोबारा होगी शुरू – श्री  अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री श्री  अरविंद केजरीवाल ने लोगों कि मांग पर 821 नंबर बस को  दोबारा शुरू करने की घोषणा की। 821 नंबर बस पहले इस मार्ग पर चलती थी। इस बस को कुछ वजह से बंद कर दिया गया था। लोगों का कहना था कि इस बस के बंद होने से उन्हें परेशानी हो रही है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लोगों की समस्याएँ और उनकी मांग को देखते हुये बंद बस को एक सप्ताह के अंदर दोबारा शुरू करने की घोषणा की।

14 माह में बनकर तैयार हो जाएगी नई बिल्डिंग –  श्री सतेंद्र जैन

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने कहा यह अस्पताल अभी 100 बेड का है, इसमे 270 बेड और बढ़ाने का काम शुरू होने जा रहा रहा है। यह 270 बेड बनाने में पांच साल नहीं लगेंगे। इस अस्पताल को अगले 14 महीने में बनाकर शुरू कर देंगे। यही पर केंद्र सरकार की तरफ से 100 करोड़ रुपये में 100 बेड का अस्पताल बनाया जा रहा है। उस अस्पताल को तीन साल में भी नहीं पूरा नहीं किया जा सका, लेकिन हम इस 270 बेड को निश्चित समय मे पूरा करेंगे। ज्यादातर लोगों का यही पर इलाज हो जाएगा। किसी को इलाज कराने के लिए दूर नहीं जाना होगा।  दिल्ली में 70 साल में मात्र 20 हजार बेड बनाये गए थे। आज दिल्ली में 15 हजार बेड पर काम चल रहा है। जो काम 70 साल में हुए, उससे ज्यादा काम हमने  5 साल में किया है। दिल्ली सरकार ने ऐतिहासिक कार्य किये हैं। दिल्ली में 2.80 लाख कैमरे लगाए रहे। 334 नए मोहल्ला क्लीनिक बन कर तैयार हैं। जल्द ही उनकी शुरुआत होगी। किसी सरकार ने इस तरह का कार्य नहीं किये। स्वास्थ्य, शिक्षा के क्षेत्र में किये गए काम की पूरी दुनिया सराहना कर रही है।

अब नजफगढ़ का नाम पूरी दिल्ली में ही नहीं बल्कि विश्व मे रौशन हो रहा है –  श्री कैलाश गहलोत

दिल्ली के परिवहन मंत्री व नजफगढ़ से विधायक कैलाश गहलोत ने कहा कि जब भी मुख्यंमत्री नजफगढ़ विधानसभा क्षेत्र में आए, तब यहां के लोगों को कोई न कोई सौगात अवश्य दिए। इस विधानसभा में चार करोड़ लीटर पानी का टैंक बनाने का काम शुरू किया गया। 65 करोड़ की लागत से 270 बेड का छह मंजिल अस्पताल बनाने की शुरुआत की। पहले अक्सर लोग पूछा करते थे कि नजफगढ़ क्या दिल्ली का हिस्सा है, आज वही नजफगढ़ का नाम पूरी दिल्ली में ही नहीं बल्कि विश्व मे रौशन हो रहा है। यह सब मुख्यमंत्री की इच्छा शक्ति के चलते संभव हो पाया है। आम आदमी पार्टी की सरकार और अरविंद केजरीवाल जैसा मुख्यमंत्री दिल्ली को नहीं मिलता, तो इतना सारा विकास नहीं हो पाता। नजफगढ़ क्षेत्र में ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी बन कर तैयार हो चुकी है। कैलाश गहलोत ने कहा कि 270 बेड के अस्पताल में एक आईसीयू, चार ऑपरेशन थियेटर, ब्लड बैंक की व्यवस्था होगी।

All Time Favorite

Categories