लाकडाउन के दौरान बंद रही दुकानों के बिजली बिल माफ किए जाए: वशिष्ठ

नारनौल,5जून :कोरोना वैश्विक महामारी के चलते पूरे देश में तीन महिने के दौरान लाकडाउन की वजह से व्यापार पूरी तरह से चरमरा गया है। हरियाणा प्रदेश में जिला महेन्द्रगढ आर्थिक रूप से प्रदेश के अन्य जिलों की उपेक्षा ज्यादा कमजोर है। यह सभी आकडों की बात नही सत्य परिपूर्ण है। जिले के व्यापारियों की दयनीय व बदहाल  स्थिति को देखते हुए हरियाणा के सीएम मनोहर लाल व बिजली मंत्री  रणजीत से व्यापारी वर्ग के के नेता व समाज सेवी किशन वशिष्ठ ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि जिले के व्यापारियों ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद रखीं। उन्होंने सरकार से मांग की है कि बंद की अवधि में दुकानों के बिजली के बिल माफ  किया जाए। यह सरकार का कदम व्यापारी हित में होगा। श्री वशिष्ठ ने बताया कि देश के अनेक राज्यों में मुख्यमंत्रियों के द्वारा लॉक डाउन से पीडि़त व असहाय लोगों की सहायता के लिए विभिन्न पैकेज दिए है। सरकार से मांग व्यापारी लोग कर रहे है। लॉक डाउन के दौरान दुकाने बंद पड़ी थी दुकानदारों ने बिजली का प्रयोग नहीं किया। फिर भी बिजली विभाग ने दुकानों के बिलों में सरचार्ज लगाकर बिजली के बिल दुकानों पर भेज दिए। दुकानदार बिल केसे भर पाएंगें। यह नामुमकिन है। बंद के दौरान दुकानदार घर पर रहकर परिवार का पालन पोषण कर रहे है। यह सब जानते है। सरकार से मांग की है। दुकानदारों की मांगों पर ध्यान देकर उनके साथ न्याय करें।

(बी.एल. वर्मा)

All Time Favorite

Categories