Haryana National

सिक्स लेन मार्गों के लिए सरकार ने मंजूर किए हैं 1007.5 करोड़, कार्य शुरू

सरकार द्वारा मंजूर किए गए सिक्स लाइन के कार्य में मिट्टी को समतल करने में लगी मशीन।-सिक्स लेन मार्ग बनने से उद्योग-धंधों को मिलेगा बढ़ावाए रोजगार होगा सृजित :

त्रिभुवन वर्मा / सुरेन्द्र व्यास द्वारा 
नारनौल, 8 सितंबर 2019:हरियाणा सरकार के अति महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट सिक्स लेन रोड के निर्माण का कार्य चालू हो गया है। फिलहाल यह सडक़ मार्ग राजस्थान (कोटपूतली) के पनियाला मोड़ से वाया नांगल चौधरी होते हुए ढाणी बाठोठा, दताल से निजामपुर रोड़, नांगल चौधरी एवं नारनौल से पचेरी तक अलग-अलग टुकड़ों में बनाए जाने हैं। सरकार ने इनके निर्माण के लिए लगभग 1007.5 करोड़ रुपये स्वीकृत किए हैं। इनके निर्माण का टेंडर गावर कंस्ट्रक्शन कंपनी को मिला है। कंपनी को इन सिक्स लेन मार्गों का निर्माण करने के लिए 30 महीने का लक्ष्य दिया गया है।

उल्लेखनीय है कि सीएम मनोहर लाल की सरकार ने गत दिनों प्रदेश के कई सडक़ मार्गों को छह मार्गीय मार्गों में तब्दील करने की घोषणा की थी। इसकी घोषणा होने पर जिला प्रशासन ने लगातार उच्चाधिकारियों से संपर्क साधे रखा तथा डिजाइन तैयार कराने से लेकर सीएम से मिलकर बजट दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। सीएम की घोषणाओं में नेशनल हाइवे 148-बी को भी शामिल किया गया था। जिसके तहत कोटपूतली के पनियाला मोड़ से ढाणी बाठोठा (नारनौल) तक के मार्ग पर निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है। इसके साथ ही नांगल चौधरी की दाईं दिशा में पनियाला मोड़ से जो सिक्स लेन मार्ग आएगा, उसे ग्राम दताल से होते हुए नांगल चौधरी के बाहर से निजामपुर रोड में जोड़ा जाएगा। इसे नांगल चौधरी बाइपास का नाम दिया गया है और यह करीब 6 किलोमीटर लंबी दूरी में बनाया जाएगा। इन सिक्स लेन मार्गों के तैयार होने पर सूखाग्रस्त पीडि़त नजर आने वाले नांगल चौधरी क्षेत्र की कायाकल्प हो सकेगी।

लाजिस्टिक हब से जुड़ेगा मार्ग:
इस सिक्स लेन बाइपास का निर्माण निजामपुर क्षेत्र में प्रस्तावित लाजिस्टिक हब से कनेक्टिविटी की जाएगी, ताकि लॉजिस्टिक हब आने-जाने वाले भारी वाहनों का दबाव इस मार्ग के जरिए सुगम किया जा सके। लॉजिस्टिक हब से नेशनल हाइवे नंबर 8 दिल्ली-जयपुर को जोड़ा जाएगा।

 

 

 

 

एन  एच 11 भी होगा सिक्स लेन:
एनएच 148-बी ही नहीं, नेशनल हाइवे दिल्ली-झुंझुनूं एनएच 11 को भी सिक्स लेन किया जाएगा। वर्तमान में इसका निर्माण रघुनाथपुरा से पचेरी तक किया जाना प्रस्तावित है।
ये भी है योजना:
सरकार की नारनौल के बाहर नया रिंग रोड बनाने की योजना है। इस योजना के तहत नांगल चौधरी-ढाणी बाठोठा मोड़ पर एक यूटीलिटी सेंटर बनाया जाना प्रस्तावित है। वहां से यह मार्ग नीरपुर के पास नेशनल हाइवे 11 से मिलेगा। यहां से रिंग कुतबापुर (महेंद्रगढ़ रोड) की तरफ  घूम जाएगी और रघुनाथपुरा के बाहर सिंघाना रोड में जाकर मिलेगी। इस प्रकार नारनौल को नया बाइपास मिल जाएगा।
उद्योग धंधों को मिलेगा बढ़ावाए रोजगार होगा विकसित:
इन सिक्स लेन मार्गों के सिरे चढऩे से इलाके में उद्योग धंधों का सूखा खत्म होने की पूरी उम्मीद है, क्योंकि जब बेहतरीन सडक़ें होंगी तो वहां से वाहनों का आवागमन सुगम होगा और मल्टीनेशनल कंपनियों को उद्योग धंधे स्थापित करने में भी आसानी रहेगी। लॉजिस्टिक हब इन्हीं सपनों को साकार करेगा। उद्योग धंधे चालू होने से रोजगार के अवसर सृजित होंगे और लोगों की आर्थिक स्थिति मजबूत बनेगी।
इस बारे में प्रोजेक्ट डायरेक्टर पीके कौशिक ने बताया कि उन्होंने पनियाला की तरफ  से सिक्स लेन मार्गों पर काम चालू कर दिया है। फिलहाल मिट्टी को समतल किया जा रहा है और जहां-जहां पुलों की आवश्यकता होगी, वहां इनका निर्माण किया जा रहा है। इसे टुकड़ों में बनाया जाएगा। उम्मीद है कि ये निर्धारित समय से पहले तैयार हो जाएंगे।

सरकार द्वारा मंजूर किए गए सिक्स लाइन के कार्य में मिट्टी को समतल करने में लगी मशीन।