Haryana

सीआईए पुलिस ने क्षेत्र में हुई भैंस चोरियों में 9 भैंसें बरामद करने में पाई कामयाबी


-22 भैंसों के मामले है दर्ज, जल्द ही ओर भैंसें होंगी बरामद: अब्बास खान
बी.एल. वर्मा द्वारा :
नारनौल 31 जुलाई 2019 :सीआईए पुलिस ने पिछले 2 माह में क्षेत्र में हुई भैंस चोरी की 9 भैसों को बरामद करने में कामयाबी हासिल की हैं। भैंस चोरी के आरोपी सतबीर उर्फ  बिल्लू पुत्र मान सिंह बिहार कालोनी कोटपूतली, लाडू पुत्र मोती राम वासी भूरी भड़ास राजस्थान, हडिय़ा पुत्र कालू राम वासी कुहाड़वास राजस्थान को गिरफ्तार किया था, जिनको पुलिस ने 5 दिन के रिमांड पर लिया। रिमांड खत्म होने पर दोबारा 3 दिन के रिमांड पर लेकर राजस्थान के गांव भूरी भड़ास से 9 भैंस बरामद की है।
इस बारे में पुलिस प्रवक्ता नरेश कुमार ने बुधवार को बताया पिछले 2 महीनों से गांव छिथरोली, सीहोर, उच्चत, सेहलंग, गाहड़ा, मलड़ा सराय गांवों से भैंस चोरी हुई थी। जिसका थाना कनीना में चोरी के मुकदमे दर्ज हुए थे। इस मामले को लेकर ग्रामीणों में काफी आक्रोश था। जिसको लेकर पुलिस अधीक्षक चन्द्र मोहन ने सीआईए इंचार्ज व सभी स्टाफ  के साथ लगातार 2 दिन बैठक की और आदेश दिया कि किसी भी सूरत में ओर किसी भी हद तक जाकर ये भैंस चोरी के आरोपियों का सुराग लगाया जाए तथा चोरी की हुई भैंस बरामद की जाए। पुलिस ने 22 जुलाई को तीन आरोपी जावेद, हडिया व राजू को गिरफ्तार किया था। आरोपियों को 5 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया। तीनों आरोपियों को अलग अलग स्थानों से गिरफ्तार किया था और ये सभी दिन में रेकी करके भैंस व गायों की चोरियां करवाते थे, जिसकी एवज में एक हजार से लेकर 5 हजार तक रुपए लेते थे। आरोपियों ने रिमांड अवधि के दौरान दो ओर नामों का खुलासा किया। जिसमें सतबीर पुत्र मान सिंह व लाडू पुत्र मोती राम ये दोनों ही भैंस चोरी करके ले जाते थे। दोनों आरोपी नांगल चौधरी चोरी के किसी मुकदमे में पहले ही नसीबपुर जेल में बंद थे। इन दोनों आरोपियों को सीआईए नारनौल प्रोडक्शन वारंट पर लिया और फिर इनको 3 दिन के पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ की तो इन आरोपियों ने पिछले दो माह में भैंस चोरी की वारदात को कबूल किया। इस बारे में जब पुलिस अधीक्षक चन्द्र मोहन को बताया कि भैंस राजस्थान के गांव भूरी भड़ास में बाड़ा बनाकर रखा है। पुलिस अधीक्षक ने डीएसपी मित्र पाल व इंचार्ज सीआईए अब्बास खान के नेतृत्व में टीम तैयार की ओर तुरन्त रेड की गई। जिसकी 2 व्यक्ति देख रेख कर रहे थे। पुलिस को देखते ही दोनों व्यक्ति वहां से भाग गए। पुलिस को पक्का यकीन हो गया कि ये सभी भैंस चोरी की है और बाडे से 9 भैंस चोरों की गई। पुलिस ने पूछताछ पर पता चला कि ये सभी भैंस छह जुलाई को छिथरौली, सिहोर, उच्चत व 17 जुलाई गहडा, सेहलंग व 13 जुलाई को मलड़ा सराय से चोरी हुई थी। सभी चोरी हुई भैसों के मालिकों को मौके पर बुलाकर पहचान कराई गई। सभी ने अपनी चोरी हुई भैंस को पहचान लिया। भैंस मालिकों को उनकी भैसों को पुलिस सुपरदारी पर दिया है। सीआईए इंचार्ज अब्बास खान ने बताया कि वे पहले मेवात जिले में तैनात थे। उन्होंने मुखबिर के आधार पर इन चोरों का पता लगाया और ये सभी भैंस बरामद की है। उन्होंने बताया कि जिले में इस वर्ष अभी तक 22 मुकदमे भैंस चोरी के दर्ज हुए है। जल्द ही ओर चोरी की भैंस बरामद होने की संभावना है।