स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए बैठक

स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए बैठक
-10 से 12 अगस्त होगी रिहर्सल, 13 अगस्त को अंतिम अभ्यास
त्रिभुवन वर्मा द्वारा :
नारनौल 31 जुलाई 2019 : स्थानीय आईटीआई में 15 अगस्त को मनाए जाने वाले जिलास्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए उपायुक्त जगदीश शर्मा ने आज अधिकारियों की बैठक ली तथा उनको जिम्मेदारियां सौंपी।
डीसी ने कहा कि यह राष्टï्रीय पर्व है। इसमें सभी विभाग पूरी निष्ठïा के साथ काम करें। इसकी तैयारियों में किसी प्रकार की कमी नहीं रहनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए 10 से 12 अगस्त तक रिहर्सल होगी। इसमें विभिन्न परेड़ टुकडिय़ां अपना अभ्यास करेंगी। अभ्यास के दौरान एंबुलेंस व पेयजल आदि की व्यवस्था रहेंगी। 13 अगस्त को अंतिम अभ्यास होगा। उन्होंने कहा कि सांस्कृतिक टीमों के लिए एक कमेटी का गठन किया गया है। यह कमेटी समय से टीमों का चयन करे। साथ ही यह सुनिश्चित करें कि जो भी सांस्कृतिक कार्यक्रम हों वे इससे पहले के समारोह में प्रस्तुत न किए गए हों। हर आइटम में स्कूली बच्चों की अधिक से अधिक संख्या होनी चाहिए। डीसी ने कहा कि बारिश के सीजन को देखते हुए उस दिन के लिए एक रेत जी ट्राली समारोह स्थल पर रहेगी, ताकि जरूरत पडऩे पर उसका प्रयोग किया जा सके। उन्होंने कहा कि पहले मुख्यातिथि सैनिक बोर्ड में जाकर शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित करेंगे। ऐसे मेें पूरे रूट पर झंडे व सफाई की व्यवस्था अच्छी तरह से की जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यातिथि का निर्धारण राज्य सरकार द्वारा किया जाना है। इसकी सूची जल्द ही मिल जाएगी। इस बैठक में पुलिस अधीक्षक चंद्रमोहन, एडीसी मुनीष नागपाल व अन्य अधिकारी मौजूद थे।
हादसे की सूचना स्कूली बच्चों को प्रार्थना में दें, दो मिनट का रखें मौन:
जिले में सडक़ हादसा होने पर संबंधित गांव के स्कूल के बच्चों को प्रार्थना के दौरान इसकी सूचना दें तथा दो मिनट का मौन धारण करें। इससे बच्चे सडक़ सुरक्षा के प्रति जागरूक होंगे साथ ही उनके मन पर गहरा प्रभाव भी पड़ेगा। यह बात उपायुक्त जगदीश शर्मा ने आज लघु सचिवालय में सडक़ सुरक्षा पर बुलाई विभिन्न विभागों के अधिकारियों की बैठक में कही।
डीसी ने कहा कि बड़ों के मुकाबले बच्चे यातायात के प्रति ज्यादा गंभीर होते हैं। अगर उनका स्कूलों में इस बारे में बताया जाए तो वे घर आकर अपने परिजनों को भी नियमों का पालन करने के लिए दबाव बनाएंगे। उपायुक्त ने कहा कि हमें अपना व्यवहार में बदलाव लाने की जरूरत है। सरकार की सुरक्षित वाहन पालिसी के संबंध में उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे समय-समय पर स्कूल बसों की फिटनेस जांचें। उन्होंने पुलिस विभाग को निर्देश दिए कि जिले में यातायात नियमों को सख्ती से पालना होनी चाहिए। साथ ही उन्होंने बीएंडआर विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे सडक़ों की मरम्मत करवाएं। जहां भी सफेद पट्ïटी की जरूरत है वहां पर जल्द से जल्द यह व्यवस्था की जाए। इस बैठक में पुलिस अधीक्षक चंद्रमोहन, एडीसी मुनीष नागपाल के अलावा अन्य अधिकारी मौजूद थे।

About the author

SK Vyas

SK Vyas

Add Comment

Click here to post a comment

All Time Favorite

Categories