Haryana

हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019-

हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019-

हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019-

अटेली विधानसभा के पोलिंग अधिकारियों को चुनाव प्रक्रिया के बारे में जानकारी देते उपायुक्त जगदीश शर्मा।

अटेली विस के पोलिंग अधिकारियों की दूसरी रिहर्सल
अधिकारी सेंसेब्लिटी, रिस्पोंसिब्लिटी व अकाउंटिब्लिटी के साथ काम करे- उपायुक्तत्रिभुवन वर्मा द्वारा :
नारनौल, 1 5 अक्टूबर 2019।हम विश्व की सबसे अधिक भागीदारी वाले लोकतांत्रिक देश के निवासी हैं। देश की यह साख चुनाव आयोग की निष्पक्ष कार्यप्रणाली के कारण है। आप सभी चुनाव अधिकारी इस निष्पक्षता को बरकरार रखें और सेंसेब्लिटी, रिस्पोंसिब्लिटी व अकाउंटिब्लिटी के साथ काम करें। यह बात जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त जगदीश शर्मा ने मंगलवार को स्थानीय सभागार में अटेली विधानसभा के पोलिंग अधिकारियों की दूसरी रिहर्सल के दौरान कही।
उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी चुनाव की हर बारीकि को समझते हुए उस पर अमल करें। सबके साथ एक जैसा बर्ताव करना है। आपका व्यवहार ही आपकी सफलता का मूल मंत्र है। हमें पूरी तरह से तटस्थ होकर काम करना है। आपकी तटस्थता का ही परिणाम है कि देश में परिवर्तन होते रहे हैं लेकिन किसी ने भी चुनाव आयोग पर अंगुली नहीं उठाई।
उन्होंने कहा कि चुनाव के लिए आपको 20 अक्टूबर को ईवीएम-पीपीपैट उपलब्ध कराई जाएगी। जिस नंबर की ईवीएम अलॉट की जाए उसी नंबर की ईवीएम है या नहीं यह भी चैक करें। मोकपोल की तैयारी सुबह 6 बजे शुरू कर दें। तैयारी करने के बाद मतदान केंद्र पर मौजूद पोलिंग एजेंट को बता दें कि सुबह 6.15 बजे मॉकपोल शुरू होगा। मोकपोल करने पर मशीन को क्लियर करें व वीवीपैट का ड्राप बाक्स खाली करने के बाद सील करें तथा सुबह 7 बजे मतदान शुरू करवाना है।
इस मौके पर अतिरिक्त उपायुक्त डा. मुनीश नागपाल ने कहा कि दुनिया का कोई भी देश हमारी चुनावी प्रक्रिया पर शक नहीं करता। देश के सभी राजनीतिक दलों को भी इस प्रक्रिया पर पूरा भरोसा है। इस भरोसे को हम सबको बरकरार रखना है ताकि कभी भी इस देश की चनुावी प्रक्रिया पर ऊंगली न उठे।
ऐसे रहेगी ड्ïयूटी
मतदान केंद्र पर पीठासीन अधिकारी ओवर ऑल इंचार्ज होगा। सारी प्रक्रिया उसी के दिशा-निर्देशन में होगी। जिस मतदान केंद्र में 1200 से अधिक मत हैं वहां पर एक अतिरिक्त पोलिंग अधिकारी दिया जाएगा। वह रजिस्टर 12-ए का इंचार्ज होगा।
पहला पोलिंग अधिकारी – पहला पोलिंग अधिकारी मतदाता सूची का इंचार्ज होगा और मतदाता की पहचान करेगा।
दूसरा पोलिंग अधिकारी – दूसरा पोलिंग अधिकारी अमिट स्याही का इंचार्ज होगा। पहला पोलिंग अधिकारी द्वारा मतदाता की पहचान करने के बाद दूसरा पोलिंग ऑफिसर मतदाता के बाएं हाथ की फोर फिंगर का निरीक्षण करके उसके नाखून से लेकर त्वचा के ऊपर तक स्वाही का निशान लगाएगा। दूसरा पोलिंग रजिस्टर फार्म नंबर 17 का भी इंचार्ज होगा और वह मतदाता का नाम वोट नंबर रजिस्टर में दर्ज करेगा तथा मतदाता के हस्ताक्षर रजिस्टर पर कराएगा व मतदाता को हस्ताक्षर कराने के बाद वोटर सिल्प देगा वोटर के मतदान केंद्र छोडऩे से पहले वह यह सुनिश्चित करेगा कि वोटर के बाए हाथ की फोर फिंगर पर स्याही का निशान है।
तीसरा पोलिंग अधिकारी – तीसरा पोलिंग अधिकारी कंट्रोल यूनिट मशीन का ईंचार्ज होगा और उसकी सीट दूसरे पोलिंग अधिकारी के साथ होगी। तीसरा पोलिंग अधिकारी दूसरे पोलिंग आफिसर के द्वारा मतदाता को दी गई वोटर सिल्प के आधार पर मतदाता को वोटिंग कंपार्टमेंट में जाने के लिए कहेगा। इसके बाद मतदाता वोटिंग कंपार्टमेंट में रखी बैलेट यूनिट के कन्डीडेट वाले बटन को दबाएगा।
बीएलओ अपने-अपने बूथों पर ही रहेंगे
अतिरिक्त उपायुक्त डा. मुनीष नागपाल ने इस प्रशिक्षण के दौरान स्पष्टï किया कि सभी बूथ लेवल अधिकारी को अपने-अपने बूथ पर रहना है। कई अधिकारियों की पीओ व एपीओ को ड्ïयूटी लगी है लेकिन उन्हें केवल बूथ लेवल अधिकारी का काम ही करना है। सभी बीएलओ इस बारे में उनसे मिलें तथा उनकी दूसरी ड्ïयूटी नहीं लगाई जाएगी।
उन्होंने बताया कि सभी बीएलओ को मतदाताओं के घर-घर जाकर वोटर स्लिप बांटने का काम करना है। इस बारे में उन्हें दिशा-निर्देश भी दिए जाएंगे।