22 वर्षों बाद भाजपा ने ही करवाए छात्र संघ चुनाव बहाल

महेन्द्रगढ़ रेस्ट हाउस में पत्रकारों को संबोधित करते एबीवीपी के जिला प्रमुख सचिन महायच।
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद प्रदेश के हर कालेज में लड़ेंगी चुनाव
चुनाव बहाली पर मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री का जताया आभार
बी.एल. वर्मा द्वारा
नारनौल 10 अक्टूबर 2018 : हरियाणा में 22 वर्षों के बाद छात्र संघ के चुनाव बहाल हुए है। इनसे पहले एनएसयूआई व इनसो से जुड़ी सरकारों ने 16 वर्षों तक हरियाणा प्रदेश में राज किया। वह अपने कार्यकाल में छात्र संघ के चुनाव बहाल नहीं करवा पाए। भाजपा सरकार ने यह साहसिक कदम उठाया है। अब हरियाणा में छात्र संघ के चुनाव 17 अक्टूबर को होने जा रहे है। इन चुनावों में हर कालेज में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद अपना उम्मीदवार मैदान में उतारेगी।
यह बात एबीवीपी के जिला प्रमुख सचिन महायच ने बुधवार महेंद्रगढ़ रेस्ट हाउस में छात्र संघ चुनाव के मद्देनजर प्रेस वार्ता में कही। उन्होंने कहा कि 22 वर्षों के बाद हरियाणा में छात्र संघ के चुनाव बहाल हुए है। जिसके लिए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद सरकार के इस सराहनीय कदम का स्वागत करती है। 22 वर्षों से ही निरंतर हमारी मांग प्रत्यक्ष छात्र संघ चुनाव के लिए रही है। हम अपनी मांग पर आज भी अडिग है कि सरकार राज्य में प्रत्यक्ष चुनाव कराए। लेकिन सरकार का निर्णय अप्रत्यक्ष चुनाव के लिए आया है। हम अन्य छात्र संगठनों की भांति चुनाव का विरोध नहीं करेंगे और चुनाव में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करेंगे। आपने देखा होगा कि 22 वर्षों से निरंतर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने छात्र संघ चुनाव के लिए संघर्ष किया है। चाहे साल-2010 में छात्र महापंचायत हो, चाहे साल-2012 में हरियाणा विधानसभा का घेराव हो और चाहे तत्कालीन मुख्यमंत्री भूपेंद्रसिंह हुड्डा के आवास का घेराव हो। अभाविप ने हर स्तर पर विद्यार्थी के लिए लड़ाई लड़ी है। जिस का सफल परिणाम है कि हरियाणा में छात्र संघ के चुनाव बहाल हुए है। जिनकी तारीख 17 अक्टूबर निश्चित की गई है। वह अन्य छात्र संगठनों को जिनमें मुख्य रूप से एनएसयूआई व इनसो शामिल हैं, उनको यह कह देना चाहता है कि 16 वर्षों तक हरियाणा राज्य में आप की सरकारें रही। उस समय छात्र संघ के चुनाव क्यों नहीं बहाल कराएं। उसका भी हमारे पास ही जवाब है, क्योंकि उन्हें अपनी परिवारवाद और वंशवाद की राजनीति खिसकने का डर है। दूसरी ओर अभाविप सामान्य से सामान्य कार्यकर्ता को साथ लेकर 365 दिन कैंपस में काम करता है। उनके अधिकारों के लिए लड़ाई लड़ता है और उनकी समस्याओं को समाधान की ओर ले जाता है। जिनके बल पर ही हम छात्र संघ चुनाव में भाग लेंगे और जिले के सभी महाविद्यालयों में भगवा परचम लहराएंगे। उन्होंने छात्र संघ के चुनाव बहाली के लिए प्रदेश के मुख्य मंत्री मनोहरलाल व शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा का आभार जताया। इस मौके पर अभाविप के जिला संयोजक प्रवेश कौशिक, नगर मंत्री कर्मपाल यादव, पूर्व केंद्रीय विश्वविद्यालय अध्यक्ष अभाविप छात्र नेता नरेश यादव, नगर उपाध्यक्ष विकास व पूर्व नगर मंत्री अंकित मिश्रा भी मौजूद थे।